jakiir 87

विश्व के कई देशो में प्रतिबंधित इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के संस्थापक और विवदास्पद वक्ता ज़ाकिर नाईक की मुश्किलें आसान होती नज़र नहीं आ रही हैं.

हाल ही में केरला के कोच्ची शहर से एक घटना सामने आई हैं. कोच्ची में रहने वाले 25 वर्षीय एबिन जैकब ने पुलिस को बताया कि मेरी बहन, मेरिन उर्फ मरियम का पति बेस्टिन विन्सेंट जोकि इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन का मेंबर हैं, ने मुझे ज़बरदस्ती इस्लाम क़ुबूल करने और आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट से जोड़ने के प्रयास किये.

और पढ़े -   यूके मूल की लड़की के अपहरण और हत्या के आरोप में बीजेपी नेता गिरफ्तार

एबिन ने कोच्ची पुलिस को दिए बयान में कहा कि बेस्टिन और आर सी कुरैशी दोनों ही इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन का हिस्सा है.

जिसके बाद बयानों के आधार पर कोच्ची के पलरिवट्टोम पुलिस ने इंडियन पैनल कोड के अनुच्छेद 13 के तहत गैर-कानूनी गतिविधियों को अंजाम देने का मामला दर्ज कर लिया हैं.

एबिन के बयान के मुताबिक कुरैशी ने कहा कि “एबिन को इस्लाम क़ुबूल कर लेना चाहिए और इस्लामिक स्टेट के साथ जुड़ जाना चाहिए”. मामले की छान-बीन करने वाले एसीपी के वी विजयन ने बताया कि 2014 में एबिन को मुंबई लाने वाला और कुरैशी से मिलाने वाला भी बेस्टिन ही था.

और पढ़े -   मालेगांव ब्लास्ट: कर्नल पुरोहित के बाद अब दो और आरोपियों को मिली जमानत

एसीपी के वी विजयन ने बताया कि एबिन ने अपने बयान में कहा कि “जब मेरी बहन मेरिन मुंबई में रहती थी तो उसको भी बेस्टिन ने उसकी इच्छा के विरुद्ध इस्लाम क़ुबूल कराया गया था. अब मुझे इस बात का भी डर हैं कि कही बेस्टिन अब मेरी बहन को इस्लामिक स्टेट से जुड़ने के लिए ज़बरदस्ती करे”.

Web-Title: Islamic Research Organisation’s man asking others to embrace islam

और पढ़े -   रोहिंग्या शरणार्थियों की आने की संभावना के चलते भारत ने म्यांमार के साथ की अपनी सीमा सील

Key-Words: IRF, ISIS, Embrace, Islam, Forcefully, Join


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE