वहाबी स्कॉलर जाकिर नाईक को कथित आतंकवाद के आरोपों में तलाश कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि जाकिर नाईक ने अब मलेशिया की नागरिकता लेने की फिराक में है. इसके लिए उसने आवेदन भी किया है. हालांकि हाल ही में सऊदी अरब ने जाकिर नाईक को नागरिकता प्रदान की है.

एनआईए ने कहा कि जब से एजेंसी ने जाकिर के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने को लेकर इंटरपोल से संपर्क किया है तब वे वह लगातार अपने ठिकाने बदल रहा है. हालांकि मलेशिया ने उसके आवेदन पर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया है.

और पढ़े -   बीजेपी नेता की गौशाला में भूख प्यास से मर गयी दर्जनों गाय, शवो को कुत्ते रहे नोच

याद रहे नाईक के खिलाफ भारत में आतंकवाद और धनशोधन के आरोपों को लेकर केस दर्ज है. हालांकि इस बारें में मलेशिया भी अवगत है. कहा जा रहा है कि नाईक का स्थाई निवास मलेशिया में भी है.

गौरतलब रहें कि सऊदी अरब पहले ही जाकिर नाईक को स्थाई नागरिकता प्रदान कर चूका है. कहा जा रहा है कि इंटरपोल की गिरफ्तारी से बचाने के लिए सऊदी हुकूमत ने जाकिर नाईक को ये नागरिकता प्रदान की है.

और पढ़े -   दलाल बन गए बेरोजगार, वे ही कर रहे हल्ला और कह रहे रोजगार नहीं है: पीएम मोदी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE