नई दिल्ली | दिल्ली के पूर्व जल मंत्री और आम आदमी पार्टी के खिलाफ बगावती तेवर अपना चुके कपिल मिश्रा ने रविवार को प्रेस कांफ्रेंस कर पार्टी के चंदो पर सवाल खड़े किये थे. कपिल ने कुछ चेक दिखाकर कहा था की पार्टी ने नोट बंदी के बाद बिना तारीख के चेक लिए और कालेधन को सफ़ेद करने का काम किया. इस दौरान कपिल ने उन 50-50 लाख के चार चेक का भी जिक्र किया जो 2014 में पार्टी को मिले थे.

साल 2015 में बीजेपी ने आरोप लगाया था की किसी फर्जी कंपनी ने आप को दो करोड़ रूपए का चंदा दिया है. बीजेपी का यह भी आरोप था की केजरीवाल ने कंपनी की जांच किये बगैर की वो असली है या फर्जी , चंदा ले लिया. उस समय विपक्ष ने इस मुद्दे को काफी बढ़ा चढ़ाकर पेश किया था. अब कपिल मिश्रा के बागी होने के बाद यह मुद्दा एक बार फिर जिन्दा हो गया.

कपिल के आरोपों पर एनडीटीवी ने उस कंपनी की जाँच पड़ताल करनी शुरू की जिसने आप को चंदा दिया था. इस दौरान चैनल की मुलाकात कथित फर्जी कंपनियों के मालिक से हुई. उस शख्स ने मीडिया को बताया की मैंने ही 2014 में आम आदमी पार्टी को 50-50 लाख के चार डिमांड ड्राफ्ट बनवाकर दो करोड़ रूपए का चन्दा दिया था. इन कंपनियों के मालिक का नाम मुकेश शर्मा है और वो गंगा विहार का रहने वाला हुई.

मुकेश ने बताया की मेरी कोई भी कंपनी फर्जी नही है. उस समय जब यह खबर मीडिया में आई तब मैं राजनितिक पचड़े से बचने के लिए सामने नही आया. इतनी बड़ी रकम चंदे में देने पर उन्होंने कहा की मैं निजी तौर पर अरविन्द केजरीवाल को नही जानता लेकिन अच्छी राजनीती के लिए मैंने यह रकम आप को दान की थी. और मैं मानता था की ये राजनीती में कुछ अच्छा करने आये है.

मुकेश ने अपनी चारो कंपनियों के बारे में बताते हुए कहा की 4 में से 3 कंपनी करावल नगर में रजिस्टर्ड हैं और जबकि एक अलीपुर नरेला में. मुकेश ने यह भी बताया की पिछले दो सालो से उनकी चारो कंपनियों के खिलाफ जांच भी चल रही है. इन कंपनियों के नाम है स्काई लाइन मेटल एंड एलाय प्राइवेट लिमिटेड,  सनविजन एजेंसीज, इन्फोलेन्स सॉफ्टवेयर सोल्यूसन , गोल्डमाइन एंड बिल्ड कॉन प्राइवेट लिमिटेड.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE