JNU-President-Kanhaiya-Kumar

विवाद के बीच दिल्ली पुलिस ने जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को  गिरफ्तार कर लिया है । इस मामले में पुलिस ने कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ भी देशद्रोह का मामला दर्ज कर लिया है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी इस मामले में कड़ी आपत्ति जताई है, जबकि दूसरी ओर मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि भारत का अपमान सहन नहीं किया जाएगा। यूनिवर्सिटी ने दोषी छात्रों को सस्पेंड कर दिया है।

जवाहरल लान नेहरू विश्वविद्याल दिल्ली में हुए छात्र संघ के चुनाव में हाल ही सेंट्रल पैनल की चार सीटों में तीन पर लेफ्ट पार्टियों ने कब्जा जमा जमा रखा है जबकि एक पर एबीवीपी ने। अध्यक्ष पद पर एआईएसएफ के कन्हैया कुमार ने जीत हासिल की है। आईसा उम्मीदवार शहला राशिद ने उपाध्यक्ष और रामा नागा ने महासचिव का पद हासिल किया है। संयुक्त सचिव बने हैं एबीवीपी के सौरभ कुमार शर्मा।
क्या है एआईएसएफ : जिस तरह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाजपा को सपोट करती है, अखिल भारतीय छात्र संघ कांग्रेस को सपोट करती है उसी तरह आईसा और एआईएसएफ अर्थातऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन वामपंथ का समर्थन करता है। विद्यार्थी परिषद और आरएसएस यह आरोप लगाते रहे हैं कि जेएनयू राष्ट्र विरोधी गतिविधयों का अड्डा बन गया है।
कौन है कन्हैया कुमार : कन्हैया कुमार बिहार के बीहट में मसनदपुर टोला निवासी हैं और वे भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी की विचारधारा से जुड़े हैं। कन्हैया कुमार के दो भाई और एक बहन हैं। मां का नाम मीणा देवी और पिता का नाम जयशंकर सिंह है। बड़े भाई मणिकांत सिह प्राइवेट नौकरी करते हैं। छोटा भाई प्रिंस कुमार पीजी की पढ़ाई पूरी कर एमफिल कर रहा है। कन्हैया जेएनयू में पीएचडी कर रहे हैं।
कन्हैया ने प्राथमिक विद्यालय मसनदपुर में कक्षा चार तथा पांचवीं से आठवीं तक की पढ़ाई बीहट रतनपुर चौक स्थित सनराइज पब्लिक स्कूल से पूरी की। आरकेसी स्कूल बरौनी से आठवीं से दसवीं तक की पढ़ाई की। इंटर पटना से करने के बाद पढ़ने के लिए दिल्ली चला गया। दिल्ली में वह वामपंथी विचारधारा से जुड़ा और कुछ समय पूर्व ही एआईएसएफ के नेतृत्व में चुना लड़ा।
कन्हैया के पिता जयशंकर सिह व चाचा जयनंद सिह साथ रहते हैं। जयशंकर सिह किसान हैं तथा मीणा देवी आंगनबाड़ी केंद्र में सेविका पद पर कार्यरत हैं। किसी तरह परिवार चलता है। दो साल से जयशंकर बीमार हैं। वे लकवा ग्रस्त हैं। इस वजह से परिवार की स्थिति और भी दयनीय हो गई है.

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें