420333-sri-sri-ravishankar

श्री श्री रविशंकर का नोबल पुरूस्कार को ठुकराने वाले बयान की गूँज भारत से लेकर अमेरिका तक सुनाई दे रही है हाल ही में श्री श्री ने बयान दिया था की मलाला ने ऐसा कुछ नही किया है जिसके लिए उसे नोबेल अवार्ड से नवाज़ा जाए थे उन्हें (श्री श्री ) को भी नोबेल पुरूस्कार दिया जा रहा था लेकिन उन्होंने ठुकरा दिया।

और पढ़े -   एम्बुलेंस के लिए रोका राष्ट्रपति के काफिला, पूरा देश कर रहा है इस यातायात अधिकारी को सलाम

इस बयान को लेकर अंग्रेजी के अख़बार वाशिंगटन पोस्ट ने लेख प्रकाशित किया है जिसमे कहा गया है की ‘ऐसा कोई रिकॉर्ड सामने नही आया जिससे ये पता चलता की श्री श्री को नोबेल पुरुस्कार के लिए नोमिनेट किया गया है लेकिन यह साफ़ नही है की उन्हें फॉरमली आमंत्रित किया गया हो और उन्होंने रिजेक्ट कर दिया हो”

गौरतलब है की सूखा पीडि़त लातूर जिले में राहत के काम का जायजा लेने के दौरान अंग्रेजी अखबार के रिपोर्टर ने उनसे पूछा था, ‘क्‍या आप यह काम नोबेल पुरस्‍कार के लिए कर रहे हैं?। इस पर उन्‍होंने जवाब दिया, बिल्‍कुल नहीं। मैं एक पुरस्‍कार से क्‍या करूंगा। हम सालों से सामाजिक काम कर रहे हैं और यह पुरस्‍कारों के लिए नहीं है

और पढ़े -   अवमानना मामले में जस्टिस सीएस कर्णन गिरफ्तार, सुप्रीम कोर्ट ने सुनाई थी 6 माह की सजा

जब एक 16 साल की लड़की को बिना कुछ किए पुरस्‍कार मिल सकता है तो आपको शांति पुरस्‍कार पाने के लिए कुछ करने की जरूरत नहीं। शायद इसके पीछे राजनीतिक कारण हो। उनका इशारा मलाला यूसुफ़जई की और था।

Washington Post Newspaper reply to Shri Shri Ravishanker Over Nobel Prize Statement

Tags – Shri Shir Ravishanker, Washington Post, Nobel Prize, Malala Yusufzai,

और पढ़े -   कार्यकाल की समाप्ति से पहले राष्ट्रपति ने 2 बलात्कारियों की दया याचिका ठुकराई

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE