सिंह ने पूछा-क्या हम उन लोगों के साथ चलना चाहते हैं जो देश को तोड़ना चाहते हैं और देश को गाली देना चाहते हैं? 

सरकार ने रोहित वेमुला को अपना आदर्श बताने वाले जेएनयू के छात्र कन्हैया कुमार के बयान पर सवाल उठाते हुए शनिवार को कहा कि आत्महत्या करने वाले हैदराबाद विश्वविद्यालय के दलित छात्र वेमुला ने भी याकूब मेनन के लिए गोष्ठी का आयोजन किया था। विदेश राज्यमंत्री (जनरल) वीके सिंह ने यहां भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘जेएनयू में पढ़ने वाले देश के एक युवा (कन्हैया) ने कहा है कि उसके लिए अफजल गुरू नहीं बल्कि रोहित वेमुला आदर्श है, लेकिन रोहित ने भी याकूब मेमन के लिए गोष्ठी का आयोजन किया था। क्या हम उन लोगों के साथ चलना चाहते हैं जो देश को तोड़ना चाहते हैं और देश को गाली देना चाहते हैं।”

और पढ़े -   हिंसा और तनाव के बीच दलित और ठाकुरों ने पेश की मिसाल, मिलकर करायी दो दलित लडकियों की शादी

उन्होंने भारतीय जनता युवा मोर्चा के लोगों से कहा कि लेकिन आप वे लोग हैं जो देश को और मां को गाली नहीं देंगे। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि विरोधी संघ के बारे में कुछ न कुछ बोलते रहते हैं लेकिन उन जैसा देशप्रेम कम ही लोगों में होता है। संघ के कार्य को देखते हुए तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने भी गणतंत्र दिवस परेड में उसे शामिल किया था। उन्होंने कहा कि यह बात दर्शाती है कि संघ ने देश के लिए कितना काम किया है। (Jansatta)

और पढ़े -   अर्नब गोस्वामी की बड़ी परेशानी - कांग्रेस नेता शशि थरूर ने दायर किया मानहानि का मुकदमा

English Summary

Singh asked “Do we want to walk with those people who wan to break the country and the nation and who want to abuse the country?”


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE