prash

यूपी के वाराणसी में स्वराज अभियान की तरफ से आयोजित ‘अमन सम्मलेन ’कार्यक्रम में वरिष्ट अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने हिजबुल कमांडर बुरहान बानी की मौत की जांच की मांग की हैं.

प्रशांत भूषण ने कश्मीर में सेना द्वारा आतंकी बुरहान बानी के मौत पर कहा कि यह अभी क्लियर नहीं हुआ कि यह फेक एनकाउंटर नहीं था. यह जाँच का विषय है इसलिए इसकी जाँच होनी चाहिए. साथ ही बुरहान बानी को आतंकी कहे जाने पर बुरहान के आतंकी बनाने का स्पष्टीकरण देते हुए प्रशांत भूषण ने कहा कि बुरहान बानी ऐसे ही आतंकी नहीं बना. पंद्रह साल की उम्र में जब उसके भाई को उसी के सामने सेना द्वारा बेवजह पीटा गया, जिसके बाद वह आतंकी बना.

वही कश्मीर में पैसे देकर बवाल कराने के प्रश्न पर योगेन्द्र यादव ने इसे गलत ठहराते हुए कहा कि हजार रूपए देकर दिखाइए जो पुलिस और फ़ोर्स के सामने खड़े होने को तैयार हो. कश्मीर में सेना द्वारा पैलेट्स के प्रयोग पर योगेन्द्र यादव ने कहा कि सरकार के द्वारा पैलेट्स को नार्मल बताया जाना तो गलत निकला. सरकार के द्वारा भेजे गए डॉक्टर ही कह रहे है कि यह बहुत ही घातक चीज है. अपने ही नागरिकों के खिलाफ़ एसे हथियारों का प्रयोग तो हमारी पूरी राज्य व्यवस्था के विफलता का प्रतीक है.

कश्मीर में इंटरनल सिक्योरटी के लिए सेना लगाए जाने को दुखद बताते हुए योगेन्द्र यादव ने कहा कि देश में यदि आर्मी को इंटरनल सिक्योरटी के लिए भेजना पड़ता है, यह उस देश कि लोकतांत्रिक व्यवस्था की विफलता की निशानी है. कोई भी नेता गर्व से नहीं कहेगा कि कश्मीर में इन्टरनल सिक्योरटी के लिए सेना लगाया जाना सही है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें