लखनऊ | इस साल 6 दिसम्बर को बाबरी मस्जिद विध्वंस के 25 साल पुरे हो जायेंगे. इस मौके पर विश्व हिन्दू परिषद का इरादा 2 लाख ‘धर्म योद्धाओं’ को तैयार करने का है. उनका कहना है की हम हिन्दू धर्म की रक्षा करने के लिए इन योद्धाओ को तैयार कर रहे है. जो 6 दिसम्बर तक तैयार हो जायेंगे. इसी दिन विश्व हिन्दू परिषद का ‘त्रिशूल दीक्षा’ दिवस भी है. हालाँकि ये योद्धा किस तरह काम करेंगे इस बात की कोई जानकारी नही दी गयी है.

पश्चिमी यूपी में विश्व हिन्दू परिषद के ‘धर्म प्रचार’ सचिव राकेश त्यागी ने इस बारे में बताया की त्रिशूल दीक्षा के दिन तक दो लाख धर्म योद्धा तैयार हो जायेंगे. इन योद्धाओ का काम हिन्दू धर्म की रक्षा करना होगा. ये योद्धा उन लोगो से निपटेंगे जो मंदिर ध्वस्त करने की कोशिश करेगा, हिन्दू धर्म पर हमला करेगा, गाय को मारेगा या लव जिहाद करेगा. राकेश त्यागी ने त्रिशूल को हथियार मानने से भी इनकार कर दिया.

उन्होंने कहा की त्रिशूल को हथियार के तौर पर वर्गीकृत नही किया जा सकता. हालाँकि इसका इस्तेमाल हिन्दू धर्म की रक्षा के लिए किया जा सकता है. मैं सभी हिन्दू भाइयो से आह्वान करता हूँ की वो हिन्दू धर्म की रक्षा के लिए आगे आये. विश्व हिन्दू परिषद के धर्म योद्धाओं को तैयार करने की पुष्टि करते हुए परिषद के संयुक्त महासचिव सुरेन्द्र जैन ने कहा की त्रिशूल , भगवान् शिव के विश्वास और शक्ति का प्रतीक है.

इसलिए हमारा संगठन देश भर में ‘त्रिशूल दीक्षा’ का आयोजन करता है. हालाँकि यह राज्य इकाइओ पर छोड़ा गया है की वो इस दिन क्या करना चाहते है. उन्होंने आगे कहा की हम यह सन्देश देना चाहते है की हिन्दू अब किसी भी तरह की आक्रमकता को बर्दास्त नही करेगा. कुछ इसी तरह की तैयारी बजरंग दल की और से भी हो रही है. बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक मनोज वर्मा ने बताया की संगठन 6 दिसम्बर तक भर्ती अभियान चला रहा है. हमारा लक्ष्य अकेले यूपी से पांच लोगो को भर्ती करने का है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE