देश भर में कभी आतंकवादियों तो कभी नक्सलियों के हाथों जवान शहीद हो रहे है, वहीँ सीमा पर भी पाकिस्तान सैनिकों के साथ बर्बरता कर रहा हैं. इन सबके बावजूद पूर्व प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह को चूड़ियाँ भेजने वाली बीजेपी अब सत्ता में होकर सिर्फ कड़ी निंदा ही कर रही है.

ऐसे में अब हरियाणा के फतेहाबाद में पूर्व सैनिक की पत्नी ने आहत होकर सैनिक बोर्ड के जरिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए 56 इंच के महिलाओं के अंतर्वस्‍त्र भेजे है. पूर्व सैनिक की पत्नी सुमन रानी गुरुवार को अपने रिटायर्ड फौजी पति धर्मबीर के साथ जिला सैनिक बोर्ड पहुंची और वहां पर पीएम के नाम एक चोली और एक लेटर जमा कराया.

लैटर में उन्होंने प्रधानमन्त्री को याद दिलाया गया है कि चुनाव से पहले जब मथुरा के हेमराज का सर काटकर पाकिस्तानी सैनिक ले गए थे तो उन्होंने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर तंज कसा था कि पाकिस्तान को लव लैटर भेजने से कुछ नहीं होगा, उसे उसी की जुबान में जवाब देना होगा

और पढ़े -   शिंजो अबे का अहमदाबाद में स्वागत तो तिरंगे झंडे से ऊपर पहुंचा बीजेपी का ध्वज, सोशल मीडिया पर बीजेपी की हुई खिंचाई

सुमन ने कहा कि दिल्ली में बैठे मंत्री और प्रधानमंत्री सिर्फ कड़ी निंदा का बम फोड़कर अपने कर्तव्य की इतिश्री मान लेते हैं. ऐसा नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा कि आज प्रधानमंत्री को 56 इंच के अंतर्वस्‍त्र भेजकर हमने उनके वादे की याद दिलाई है कि उन्हें अब ५६ इंच की छाती को दुश्मन देश को दिखाओ. पत्र में लिखा है कि “पिछले दिनों कुछ वीडियो और खबरों में सैनिकों को कुछ एक आंतकियों द्वारा बेइज्जत किया जा रहा है. लातें मारी जा रही हैं पत्थर मारे जा रहे हैं, सैनिकों के सिर तक काट कर ले गए.

बीजेपी की सरकार बनने से पहले प्रधानमंत्री जी आपने बड़ी-बड़ी बातें की थी कि एक के बदले 10 सिर काट कर लाने चाहिये. प्रेम पत्र नहीं लिखना चाहि. दुश्मन को उसी की भाषा में जबाब देना चाहिए. इन्हीं बातों से प्रभावित होकर देश की जनता ने बहुमत से सरकार बना दी. तब लगा कि देश के दुश्मनों को तो सबक सिखाया जा सकेगा. अब कोई हेमराज की तरह शहीद नहीं होगा. दुश्मन ऐसा करने की सोच भी नहीं सकेगा लेकिन ऐसे हादसे कई बार हो गए और प्रधानमंत्री जी दुश्मनों को कभी शाल भेंट कर रहे हो कभी उनके साथ चाय पीने और बधाई देने चले जाते हो. ऐसी शर्मनाक घटना होने पर वही पहले वाली सरकार की तरह कड़े शब्दों में निन्दा, सख्त धमकी, और बातो बातो में करारा जबाब दे देते हो सैनिको के हाथ बंधे लग रहे हैं.”
सुमन ने जैसे ही जिला सैनिक बोर्ड के अधिकारियों के सामने अंतर्वस्‍त्र और ज्ञापन रखा गया, सैनिक बोर्ड के अधिकारी सकते में आ गए और एक बारगी तो उन्होंने चोली को साइड में रख दिया लेकिन सुमन के साथ मौजूद उनके पति और पूर्व सैनिक धर्मवीर काजला ने जब इसका विरोध किया तो पूरा ज्ञापन पढऩे के बाद अधिकारियों ने ज्ञापन और अंतर्वस्‍त्र प्रधानमंत्री कार्यालय तक भेजने का आश्वासन दिया.

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE