उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से सटे जौनसार बावर क्षेत्र में दलितों के उत्पीड़न का मामला पीएमओ तक पहुंच गया है सांसद तरुण विजय की अगुवाई में दलितों का एक प्रतिनिधिमंडल बुधवार को पीएमओ में केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह से मिला और सुरक्षा की गुहार लगाते हुए पूरे प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की।

मंदिर में प्रवेश करने से रोकाप्रतिनिधिमंडल में शामिल दौलत कुंवर व सरस्वती देवी ने आरोप लगाया कि जौनसार बावर क्षेत्र में दलितों पर अत्याचार बढ़ते जा रहे हैं और राज्य सरकार उत्पीड़न में शामिल आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई नहीं कर रही है। उलटे अत्याचार के शिकार दलितों के साथ ही अमानवीय व्यवहार किया जा रहा है

और पढ़े -   टीवी पर आने वाले फर्जी मौलानाओं की आएगी शामत, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड कसेगा शिकंजा

प्रतिनिधिमंडल ने यह आरोप भी लगाया कि क्षेत्र के दलितों को कालसी ब्लाक में मंदिर में प्रवेश करने से भी रोका गया था प्रतिनिधिमंडल ने यह भी कहा कि इस प्रकरण को लेकर वे राज्यपाल से भी मिले थे। फिर भी दलितों का उत्पीड़न बंद नहीं हुआ। प्रतिनिधिमंडल ने प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह को सौपा।

और पढ़े -   'अबकी बार मोदी सरकार' का नारा देने वाले ने खरीदा NDTV, 600 करोड़ रूपए में हुई डील

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह बेहद गंभीर मामला है जो दुर्भाग्यपूर्ण भी है। आश्वासन दिया कि प्रकरण से प्रधानमंत्री को अवगत कराने के साथ ही गृह मंत्रालय के जरिए जांच करायी जाएगी। दूसरी ओर सांसद तरुण विजय ने कहा कि यदि क्षेत्र के दलितों पर अत्याचार बंद नहीं हुए तो इसके नतीजे भयानक होंगे।

जाति आधार पर भेदभाव संविधान का अपमान है। साथ ही यह भी उम्मीद है कि मुख्यमंत्री हरीश रावत इस प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच कराने के साथ ही पीड़ित दलितों को पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था भी मुहैया कराएंगे। साभार: अमर उजाला

और पढ़े -   हिन्दू से मुस्लिम बनी दलित दंपत्ति को मिल रही जान से मारने की धमकी, पत्र लिख योगी सरकार से की सुरक्षा की मांग

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE