john

भारत यात्रा पर आयें अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने केंद्र की मोदी सरकार को नागरिकों के अधिकारों की रक्षा के लिए सचेत किया हैं. उन्होंने कहा कि जाति, भाषा या सम्प्रदाय का विचार किए बिना सभी नागरिकों के अधिकारों की रक्षा करने की जरूर हैं. उन्होंने आगे कहा लोगों को जेल में डाले जाने के डर के बिना विरोध प्रकट करने की इजाजत होनी चाहिए.

और पढ़े -   देश की सबसे तेज ट्रेन 'तेजस' से हेडफोन हो गए चोरी, एलईडी स्क्रीन को भी पहुँचाया गया नुक्सान

केरी ने दिल्ली स्थित आईआईटी में कहा, ‘अमेरिका और भारत को हमारे लोकतांत्रिक मूल्यों में विश्वास रखना होगा और उस स्वतंत्रता को बरकरार रखना होगा जो हमारे देशों को परिभाषित करती है.’ उन्होंने कहा कि सभी को हमारे नागरिकों की जाति, भाषा या सम्प्रदाय का विचार किए बिना हमारे सभी नागरिकों के अधिकारों की रक्षा करनी होगी.

केरी ने कहा कि जो समाज अपने नागरिकों को समान मौके नहीं देता वह उन्हें एक संभावित अतिवादी या आतंकवादी बना देता है. उन्होंने कहा, ‘इसलिए इसका यह भी मतलब है कि हमें प्रत्येक धर्म और सम्प्रदाय के बीच सहिष्णुता, स्वीकार्यता, करूणा, परस्पर समझ के सेतु का निर्माण करना होगा.’

और पढ़े -   राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग का हुआ पुनर्गठन, गयरुल हसन को नियुक्त किया गया अध्यक्ष

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE