Screenshot_15 Screenshot_14

नई दिल्ली – उर्स के दौरान अगर आप यहां आते हैं तो हो सकता है कव्वाली सुन रही भीड़ में आपको सिंगर मोहित चौहान बैठे दिख जाएं या फिर हो सकता है ए. आर. रहमान से सामना हो जाए। दरअसल बॉलिवुड के कई सिंगर, डायरेक्टर, म्यूजिक डायरेक्टर और ऐक्टर्स हजरत निजामुद्दीन औलिया के मुरीद हैं। डायरेक्टर इम्तियाज अली, पंजाबी सिंगर दिलबाग, सिंगर जावेद अली समेत कई सिलेब्रिटी यहां अपनी हाजिरी देते रहते हैं और उर्स के दौरान भी अक्सर यहां आते हैं।

बस्ती हजरत निजामुद्दीन की गलियां एक बार फिर सूफियाना कलाम से सराबोर होने के लिए तैयार हैं। मौका है, हजरत निजामुद्दीन औलिया के 712वें उर्स का। उर्स 26 से 30 जनवरी तक चलेगा। उर्स में कम से कम दो दिन पूरी रात कव्वाली चलेगी, जिसमें देश के अलग-अलग हिस्सों से आए कव्वाल नॉन स्टॉप सूफियाना कलाम पेश करेंगे।

दरगाह के चीफ इंचार्ज सैयद अफसर अली निजामी ने बताया कि हजरत निजामुद्दीन औलिया के 712वें उर्स के लिए तैयारी जोरों पर हैं। उन्होंने बताया कि उर्स शरीफ 26 जनवरी को तिलावते कुरान पाक के बाद फातिहा दुआ के साथ शुरू होगा और 30 जनवरी की शाम को खत्म होगा। उन्होंने बताया कि उर्स के हर दिन दरगाह आने वालों के लिए लंगर का इंतजाम किया जाएगा और तबर्रुक बांटा जाएगा।

 दिखेंगे सूफियाना कलाम के रंग : उर्स के दौरान होने वाली स्प्रिचुअल या सूफियाना कव्वाली लोगों को एक अलग ही सुकून देती है। दरगाह पर अपनी आमद दर्ज करने के बाद लोग कव्वाली के रंग में डूब जाते हैं। इस दौरान इंडिया के कोने-कोने से कव्वाल अपनी टीम के साथ यहां अपना कलाम पेश करने आते हैं। पाकिस्तान से भी कुछ कव्वाल यहां आते हैं। पूरी रात कव्वाली चलती है और एक के बाद एक कव्वाल लगातार सुबह तक अपना कलाम पेश करते रहते हैं।

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें