kal

जम्मू कश्मीर के उरी में सेना बेस कैंप पर हुए आतंकी हमले से भारत के नागरिकों में जो गुस्सा हैं वो सामने आ रहा हैं. इसी कड़ी में शिया धर्मगुरु ने मुहर्रम के महीने में पाकिस्तान में मजलिस पड़ने से जाने के लिए मना कर दिया.

हर साल मुहर्रम के महीने में शहीदाने करबला की याद में दुनिया भर में मजलिसे आयोजित की जाती हैं. इसके लिए शिया मौलानाओं को दुनिया भर से मजलिस के लिए बुलाया जाता हैं. कुछ ही दिनों में मुहर्रम के महीने के शुरुआत होने वाली हैं जिसके तहत  शिया मौलानाओं को पाकिस्तान आमंत्रित किया गया था.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने विवादित लेखिका तस्लीमा नसरीन का एक साल के लिए बढ़ाया वीजा

लेकिन अब शिया मौलानाओं ने उरी हमले पर नाराजगी जाहिर करते हुए पाकिस्तान का न्यौता ठुकरा दिया और पाकिस्तान के बजाय अमेरिका, लंदन और दुबई जाने की तैयारी कर ली है.

पाकिस्तान से इस बार मौलाना डॉ. कल्बे सादिक, मौलाना इरशाद नकवी, मौलाना सैफ अब्बास नकवी, मुजफरनगर से मौलाना वसी असगर, सहारनपुर से मौलाना मिर्जा जावेद, लखनऊ से मौलाना आजिम हुसैन को मजलिस के लिए दावत दी गई थी.

और पढ़े -   यूपी पुलिस पर रेप पीडिता का चौंकाने वाला आरोप, रेप आरोपियों को पकड़ने के बदले कर डाली सेक्स की मांग

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE