नई दिल्ली: अरहर दाल के बाद अब उड़द दाल आम आदमी के लिए नया सिरदर्द बन गई है। लंबे वक्त बाद जब अरहर की कीमतें घटने लगी हैं, वहीं उड़द दाल महंगी हो रही है। इसकी कीमतें अब दिल्ली के बाजारों में अरहर को टक्कर देती दिख रही हैं।

अरहर के बाद उड़द दाल के दाम भी आसमान पर, 160 रुपये प्रति किलोग्राम हुईअरहर दाल के दाम में 20 रुपये किलोग्राम की गिरावट
दिल्ली की संसद से महज एक किलोमीटर दूर साउथ एवेन्यू की इस दुकान से कई नेताओं के घर का सौदा जाता है। पता नहीं, उन्हें मालूम है या नहीं कि वे संसद में अरहर पर सवाल पूछते रहे, उड़द उनके हाथ से निकल गई। दिल्ली के खुदरा बाजार में पिछले बीस दिनों में उड़द दाल 20 रुपये प्रति किलो तक महंगी हो गई है। 20 दिन पहले कीमत 140 रुपये प्रति किलो थी जो अब बढ़कर 160 रु प्रति किलो हो गई है। इस दौरान अरहर दाल 180 रुपये प्रति किलो से घटकर 160 रुपये प्रति किलो के रेट पर बिक रही है। यानी खुदरा बाजार में उड़द दाल अब अरहर को टक्कर देती दिख रही है।

साउथ एवेन्यू में पिछले चार दशक से किराने की दुकान चला रहे अशोक खुराना कहते हैं जब तक नई फसल बाजार नहीं पहुंचती, कीमतें ऊंची बनी रहेंगी।

आम लोग दाल के बिना काम चलाने को मजबूर
दरअसल खाद्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 15 दिसंबर से 4 जनवरी के बीच उड़द दाल 9 शहरों में 5 रुपये या उससे ज्यादा महंगी हुई है। लोग कहते हैं, उनके लिए दाल खरीदना अब भी मुश्किल हो रहा है। दक्षिणी दिल्ली की जमरूदपुर कॉलोनी निवासी निर्मला देवी कहती हैं, “पहले हम 2 किलो तक दाल खरीदते थे, अब आधा किलो खरीदते हैं। कभी-कभी एक पाव भी खरीदते हैं। अब घर में हर रोज दाल नहीं बनती है।” जमरूदपुर निवासी यशपाल सिंह कहते हैं कि अमीर लोगों पर दाल की कीमतों में बढ़ोत्तरी का असर नहीं पड़ता है लेकिन गरीब के लिए 100 रुपये किलो रेट भी काफी महंगा है।

नई फसल आने तक बढ़े रहेंगे दाम
उधर दालें महंगी होने से किराना दुकानदार भी निराश हैं। जमरूदपुर में किराना दुकानदार विजय गोयल कहते हैं जब से दालें महंगी हुई हैं उनकी ब्रिक्री 25 फीसदी से 30 फीसदी तक घट गई है। मुश्किल यह है कि जब तक दाल की नई फसल बाजार में नहीं पहुंचतीं, कीमतें ऊंची बनी रहेंगी। साभार: NDTV


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें