muslim cm

राष्ट्रिय उलेमा कौंसिल तथा राजनीतिक परिवर्तन महासंघ के संयोजक मौलाना आमिर रशादी मदनी ने अपने मुरादाबाद दौरे पर पहुंचकर समाजवादी पार्टी को निशाना बनाया, उनके अनुसार समाजवादी पार्टी ने हमेशा मुसलमानों का वोट लेकर सिर्फ उनका इस्तेमाल किया है प्रदेश में जिस तरह कानून व्यवस्था बर्बाद हो चुकी है उसे देखकर लगता है की प्रदेश सरकार पूरी तरह विफल हो चुकी है

और पढ़े -   यरूशलम फ़िलस्तीन और इस्लाम का है और इज़राइल इसे नहीं छीन सकता- मुफ़्ती अशफ़ाक़

आगामी विधानसभा चुनाव में महासंघ सभी 403 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगा। साथ ही कहा कि अगर वे चुनाव जीतते हैं तो यूपी का अगला मुख्यमंत्री मुस्लिम समुदाय से ही होगा। इस पर सहमति भी बन चुकी है।

पत्रकारों से बात करते हुए संयोजक मौलाना मदनी ने कहा की लोग अच्छे दिनों का इन्तेज़ार कर रहे है लेकिन बीजेपी सरकार ने आजतक अच्छे दिनों का कोई अहसास नही कराया, इस दौरान उन्होंने समाजवादी पार्टी तथा बीजेपी पर जमकर भड़ास निकाली महासंघ के सवाल पर उन्होंने कहा कि प्रदेश के विकास के लिए अब मुस्लिम नुमाइंदगी की जरुरत है।

और पढ़े -   महिला पार्षद ने गुजरात के उप मुख्यमंत्री के ऊपर फेंकी चुडिया , भ्रष्टाचार का लगाया आरोप

19 अप्रैल को लखनऊ स्थित गांधी भवन में 16 राजनीतिक संगठनों का महासंघ बनाया गया है। 2017 के विधानसभा चुनाव में महासंघ के पदाधिकारी सभी 403 सीट पर चुनाव लड़ेंगे। साथ ही यह भी तय किया गया है कि जीतने पर मुख्यमंत्री मुस्लिम समुदाय से ही बनेगा, ताकि अल्पसंख्यकों के अलावा अन्य सभी वर्गों का विकास हो सके।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE