उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य को आज कोर्ट ने छह महीने की अंतरिम जमानत दी और JNU में इन दोनों का स्वागत बड़े ज़ोर शोर से हुआ। जेल से निकलने के तुरंत बाद ही उमर खालिद ने कैंपस में छात्रों को संबोधित किया। उमर की स्पीच में JNU स्टूडेंट्स यूनियन अध्यक्ष कन्हैय्या कुमार समेत भारी संख्या में छात्रों ने शिरकत की, जिस के बाद उमर खालिद और अनिर्बन भट्टाचार्य के सपोर्ट में एक सॉलिडेरिटी मार्च भी निकाला गया। 

umar-1-620x400

उमर ने पूरी हिम्मत और निडरता दिखाते हुये कहा, “मैं आप सभी लोगों के बीच में खड़ा होकर पिछले ड़ेढ महीने से खुद को ज्‍यादा मजबूत महसूस कर रहा हूं। हम लोगों को देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया। हमें इस बात को लेकर शर्म नहीं है कि हमें इस धारा के तहत गिरफ्तार किया गया, क्‍योंकि देश के स्‍वतंत्रता सेनानी भी इसी आरोप में गिरफ्तार किए गए।”

उमर खालिद के साहस और मनोबल का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है की उमर ने सरकार को सीधे लफ्जो मे चुनौती दे डाली और कहा के “हम यहां से चिल्‍ला-चिल्‍लाकर बोलना चाहते हैं कि सरकार के खिलाफ हमारा विद्रोह जारी रहेगा। क्रिमिनल वो हैं जो पावर में हैं। सत्‍ता का विरोध करने वालों को हमेशा जेल में डाला गया।”

उमर खालिद की पूरी स्पीच देखने के लिए क्लिक करें:

(Video Courtesy-NDTV)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें