uma

नई दिल्ली | संजय लीला भंसाली की बहु प्रतीक्षित फिल्म ‘पद्मावती’ बनकर तैयार है. फिल्म 1 दिसम्बर को रिलीज़ होगी पर उससे पहले ही यह विवादों में घिर गयी है. कई संगठन फिल्म की रिलीज़ को रोकने के लिए प्रदर्शन कर रहे है. खासकर राजस्थान में फिल्म को लेकर कई संगठन नाराज है. अब इसको लेकर सियासी दलों में भी हलचल शुरू हो गयी है. खासकर बीजेपी के दो बड़े नेता और केन्द्रीय मंत्री आमने सामने आते हुए दिखाई दे रहे है.

दरअसल फिल्म ‘पद्मावती’ में रानी पद्मावती की कहानी को उकेरा गया है. लेकिन राजपूत संगठनों का आरोप है की फिल्म में एतिहासिक तथ्यों को तोड़ मरोड़कर दिखाया गया है. अब कुछ ऐसी ही आरोप केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने भी लगाये है. उमा ने शनिवार को ट्विटर पर एक खुला ख़त लिखा. इसमें उन्होंने अलाउद्दीन खिलजी पर आरोप लगाया की उनकी रानी पद्मावती पर बुरी नजर थी.

ख़त में उमा ने लिखा,’ तथ्य को बदला नहीं जा सकता, उसे अच्छा या बुरा कहा जा सकता है. सोचने की आजादी किसी भी तथ्य की निंदा या स्तुति का अधिकार हमें देती है. जब आप किसी ऐतिहासिक तथ्य पर फिल्म बनाते हैं तो उसके फैक्ट को वॉयलेट नहीं कर सकते. रानी पद्मावती की गाथा एक ऐतिहासिक तथ्य है. अलाउद्दीन खिलजी की बुरी नजर रानी पद्मावती पर थी और इसके लिए उसने चित्तौड़ को नष्ट कर दिया था.’

यही नही उमा भारती ने उन सभी लोगो को अलाउद्दीन का वंशज करार दिया जो प्रेम में असफल होने पर लड़की के मुंह पर तेजाब फेंक देते है. उमा के ख़त से साफ़ है की वो फिल्म से नाराज है. जबकि केन्द्रीय सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति इरानी कह चुकी है की फिल्म की रिलीज़ को लेकर समस्या नही हो , इसके लिए सरकार ध्यान रखेगी. उल्लेखनीय है की फिल्म में दीपिका पादुकोण ने रानी पद्मावती का किरदार निभाया है.

पढ़े उमा भारती ने ख़त के जरिये क्या लिखा  


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE