bpl-n219415-large

भोपाल सेंट्रल जेल से कथित 8 सिमी सदस्यों की कथित फरारी और फिर पुलिस मुठभेड़ में हुए मौत को फर्जी मुठभेड़ बताते हुए उज्जैन जिले के महिदपुर में हजारों मुस्लिम महिलाओं से सड़कों पर उतरकर इन्साफ की मांग की.

महिदपुर में प्रदर्शनकारी मुस्लिम महिलाओं ने बुर्का पहन  हाथों में न्याय चाहिये जैसी तख्तियां लेकर शिवराज सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. इस दौरान हाथों में तख्तियां लेकर माजिद को फर्जी एनकाउंटर के द्वारा मारने का आरोप लगाया गया.

करीब 2.30 बजे मुस्लिम समाज की करीब 2 हजार महिलाएं तहसील कार्यालय की ओर जुलूस के रूप में जमातखाने से रवाना हुईं. इस दौरान उन्होंने सवाल उठाते हुए पूछा कि माजिद नागौरी द्वारा जब स्वयं समर्पण किया गया तो भागने की वजह क्या हैं? उन्होंने एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए कहा कि एटीएस द्वारा सिमी के नाम पर पकड़े गए सभी व्यक्ति निर्दोष हैं. जिन्हें जेल में भी परेशान किया जा रहा है.

women protest 2016113 19052 03 11 2016

इसके अलावा उन्होंने मीडिया के पक्षपात पर भी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन होने पर आतंकी शब्द का उपयोग करना भी गलत है. इस दौरान माजिद की बहन जुलेखा बी ने की सीबीआई जांच की मांग-करते हुए कहा कि जल्द ही केस खत्म होने वाला था तो मेरा भाई ऐसा कदम नहीं उठा सकता. साजिश के तहत जेल से फरार कर मेरे भाई की हत्या की गई.

वहीँ  माजिद की माँ बतूल बी ने कहा, एनकाउंटर के बाद मेरे बेटे मोहम्मद जुबेर की मुझे फिक्र है. वह केंद्रीय जेल भोपाल में है.  2014 में मेरे बेटे ने आत्मसमर्पण किया था. इसके अलावा खतीजा बी ने बताया मेरा बेटा इरफान भी केंद्रीय जेल भोपाल में है. उसकी जेल में आंख की रोशनी कम हो रही है।.उसका इलाज हो रहा है या नहीं, हमें नहीं मालूम. इरफान को जल्द ही बरी किया जाए.

हजारों मुस्लिम महिलाओं द्वारा अचानक नसड़कों पर उतर जाने से प्रशासन के हाथ-पैर फुल गये. आनन-फानन में पुलिस ने बन्दोबस्त किये. ज्ञापन लेने के लिए तहसीलदार सरिता लाल हाजिर हुई. पुरे शहर में पुलिस बल तैनात कर सुरक्षा व्यवस्था बड़ाई गई.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें