नई दिल्ली | आज सोशल मीडिया पर सबसे हॉट टॉपिक के रूप में जीएसटी सबसे ऊपर चल रहा है. फेसबुक और ट्विटर पर लोग जीएसटी को लेकर खूब मजे ले रहे है. जहाँ कुछ यूजर नए कर सुधार के लिए मोदी सरकार की सरहाना कर रहे है तो कुछ ऐसे भी है जो प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी को आड़े हाथो ले रहे है. वो पूछ रहे है की अगर जीएसटी देश के लिए इतना ही जरुरी था तो कांग्रेस सरकार में बीजेपी ने इसको लागु क्यों नही होने दिया.

शुक्रवार रात को संसद के सेंट्रल हॉल में प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति प्रणव मुख़र्जी ने घंटा बजाकर जीएसटी का शुभारम्भ किया. इसके बाद से लोगो में अपने पहले जीएसटी बिल को सोशल मीडिया पर शेयर करने की होड़ से मच गयी. इसी शुरुआत बिग बाजार के सीईओ किशोर बयानी ने बिग बाजार के पहले जीएसटी बिल की तस्वीर अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर करके की. इसके बाद से यह ट्रेंड बन गया.

और पढ़े -   नोटबंदी और जीएसटी से जीडीपी पर प्रतिकूल असर पड़ा है: पूर्व पीएम मनमोहन सिंह

कुछ लोग अपना बिल शेयर कर पूछ रहे है की आखिर यह है अच्छे दिन. एक यूजर ने लिखा की 75 रूपए के सामान पर मुझे 13 रूपए जीएसटी देना पड़ा. क्या सरकार है, आम आदमी को लूट रही है. वही कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने नोट बंदी और जीएसटी , दोनों मामलो को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा. उसने लिखा की अगर नोट बंदी जानलेवा थी तो जीएसटी मृत्युदंड. इसके अलावा उन्होंने शेरो शायरी में बीजेपी को वोट देना अपनी बड़ी भूल करार दिया.

और पढ़े -   बुलेट ट्रेन को लेकर आशुतोष राणा का तंज कहा, उधार की 'चुपड़ी' रोटी से अच्छी श्रम से अर्जित की गयी 'सुखी' रोटी

हालाँकि जीएसटी को पुरे देश में लागु कर दिया गया है. लेकिन विपक्ष का आरोप है की सरकार ने अधूरी तैयारियों के साथ इसको लागु किया है. जो सच भी साबित होता दिख रहा है. क्योकि देश के अलग अलग हिस्सों से व्यापारी ऐसी शिकायत कर रहे है की अभी भी सरकार का टैक्स सिस्टम पर वैट के आधार पर ही काम कर रहा है. सरकार ने बिना सिस्टम अपडेट किये जीएसटी को लागु कर दिया है. इसको लेकर कारोबारियों के अन्दर काफी निराशा है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE