नई दिल्ली। देशभर में कॉमन मेडिकल टेस्ट यानि NEET पर बढ़ते विवाद के बीच केंद्र सरकार ने इसे अगले साल तक टालने के लिए कैबिनेट ने अध्यादेश को मंजूरी दी है। शुक्रवार को कैबिनेट की हुई बैठक में एक साल के लिए कॉमन मेडिकल टेस्ट टालने का फैसला लिया है। सरकार के फैसले से मेडिकल के छात्रों को बड़ी राहत मिली है।

गौरतलब है कि NEET पर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले का कई राज्यों ने विरोध किया है। बता दें कि 29 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल के लिए देशभर के कॉलेजों में MBBS और BDS पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए एक ही कामन टेस्ट NEET को हरी झंडी दी थी।

और पढ़े -   कोलकाता बना कश्मीर, पुलिस बलों के साथ वामपंथियों की मारपीट और पत्थरबाजी

वहीँ दूसरी तरफ मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा (NEET) को बंद करने के लिए अध्यादेश नहीं लाये जाने की मांग की है। केजरीवाल ने कहा कि कई नेता निजी मेडिकल कॉलेजों में गोरखधंधा कर रहे हैं और ऐसे में NEET पर अध्यादेश देश के खिलाफ होगा।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE