भुवनेश्वर | मोदी सरकार में पर्यटन मंत्री बने केजे अलफोंस ने बीफ को लेकर विवादित बयान दिया है. उन्होंने विदेशी पर्यटकों को सलाह देते हुए कहा की वो अपने देश से बीफ खाकर भारत आये. बीफ को लेकर उन्होंने यह दूसरा बयान दिया है. इससे पहले वो केरल के लोगो को भरोसा दे चुके है की उनके लिए बीफ की कमी नही होने दी जाएगी. यह बयान उन्होंने मंत्री पद की शपथ लेने के बाद दिया.

और पढ़े -   गैंगरेप मामले में झूठ के जरिये मुजफ्फरनगर की फिजा बिगाड़ने की कोशिश, अफवाह फैलाने वाले शख्स को ट्विटर पर फोलो करते है मोदी

मोदी सरकार के तीसरे कैबिनेट विस्तार में मंत्री बने केजे अलफोंस, ओड़िसा में हुए इंडियन एसोसिएशन ऑफ़ टूर ऑपरेटर के 33वे सालाना समारोह में बोल रहे थे. इस दौरान एक सवाल के जवाब में उन्होंने उपरोक्त विचार व्यक्त किये. उनसे सवाल किया गया था की गौरक्षा के नाम पर हो रही हिंसा और कई राज्यों में बीफ खाने पर लगी पाबंदियो के बीच क्या देश में पर्यटन पर असर पड़ा है?

इस सवाल के जवाब में अलफोंस ने कहा की पर्यटक अपने देश बीफ खाकर भारत आये. बताते चले की अलफोंस ने मंत्री पद सँभालने के बाद बीफ को लेकर विवादित बयान दिया था. उन्होंने कहा था की जैसे गोवा में मुख्यमंत्री मनोहर परिकर ने कहा था की राज्य में बीफ की कमी नही होने दी जायेगी ऐसे ही केरल के लोगो को भी बीफ मिलता रहेगा. उस समय उन्होंने कहा था की बीजेपी ने कभी नही कहा की गौमांस नही खाया जा सकता.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने SC में दाखिल किया हलफनामा, कहा - रोहिंग्‍या से देश की सुरक्षा को खतरा

पहली बार मंत्री बने अलफोंस , 1979 बैच के अधिकारी रहे है. दिल्ली में अतिक्रमण के खिलाफ कार्यवाही करते हुए उन्होंने 15 हजार अवैध इमारते हटवाई थी. गौमांस पर उन्होंने कहा था की बीजेपी को यह कहने का अधिकार नही है की गौमांस नही खाया जा सकता. हम देश के किसी भी हिस्से में लोगो की खान पान की चीजे तय नही कर सकते. यह उनका अधिकार है और उनको फैसला करना है की वो क्या खायेंगे.

और पढ़े -   गाय पर आस्था रखने वाले लोग हिंसा नहीं करते: मोहन भागवत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE