कोलकाता | कोलकाता के टीपू सुल्तान मस्जिद के पूर्व इमाम मौलाना नुरुर रहमान बरकती ने आरोप लगाया है की शुक्रवार को नमाज पढने के बाद आरएसएस के लोगो ने उन पर हमला किया. यह घटना उस समय हुई जब कुछ लोग मस्जिद के बाहर , बरकती के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे. इन लोगो की मांग थी की बरकती जल्द से जल्द मस्जिद परिसर को खाली करे.

शुक्रवार को जुमे की नमाज पढने के बाद कुछ लोग मस्जिद के बाहर इकठ्ठा हो गए और बरकती के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. इस दौरान वहां खूब हंगामा हुआ और लोगो ने बरकती से मस्जिद परिसर खाली करने की मांग की. हंगामे के बाद बरकती ने आरोप लगाया की किसी ने पीछे से उनके सर पर हमला किया. बरकती का आरोप था की आरएसएस के लोगो ने उनके ऊपर हमला किया.

और पढ़े -   आरएसएस ने बीजेपी को चेताया, कम हो रही मोदी सरकार की लोकप्रियता

इस बात की पुष्टि वहां मस्जिद के कुछ लोगो ने भी की. उन्होंने बताया की हमला एक काली कमीज पहने व्यक्ति ने किया जो उस समय वहां मौजूद था. लोगो के अनुसार वो मस्जिद का आदमी नही था. बताते चले की टीपू सुल्तान मस्जिद ट्रस्टी ने बरकती को राष्ट्रविरोधी बयाना देने के आरोप में शाही इमाम पद से हटा दिया था. वही बरकती ने ट्रस्टी के फैसले को मानने से इन्कार करते हुए कहा की उनके पास मुझे हटाने का अधिकार नही है.

और पढ़े -   मोदी सरकार रोहिंग्या मुसलमानों के नरसंहार का मुद्दा सयुंक्त राष्ट्र में उठाए: अजमेर दरगाह दीवान

इसके बाद से मस्जिद में दो गुट बन गए है. शुक्रवार को दोनों गुटों ने अलग अलग नमाज पढ़ी. बरकती के अनुसार उनके ऊपर तब हमला हुआ जब वो नमाज पढ़ कर मस्जिद में अपने कमरे में जा रहे थे. एएनआई से बात करते हुए बरकती ने कहा की मेरे सर पर पीछे से हमला हुआ. मुझे शक है की यह हमला आरएसएस के लोगो ने करवाया है. आरएसएस , मस्जिद कमिटी के पैदा किये गए हालातो का फायदा उठा रहा है.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमो को लेकर मोदी सरकार पर बरसे ओवैसी कहा, तस्लीमा को बहन बना सकते हो तो रोहिंग्या मुस्लिमो को भाई क्यों नहीं?

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE