Screenshot_17

कश्मीर में चल रही हिंसा पर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी बरक़रार हैं, जिसपर कांग्रेस नेता व्हिप ज्योतिरादित्य स्किंदी ने मोदी पर ज़ुबानी हमला करते हुए कहा कि यह पहला मौका नहीं हैं जब नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की केंद्र सरकार कोई भी प्रतिक्रिया नहीं करने को आगे नहीं आ रही हैं इससे पहले भी ऐसे ही कैयो मुद्दों पर मोदी जी ने ख़ामोशी बरक़रार रखना बेहतर समझा था.

और पढ़े -   अंतराष्ट्रीय न्यायालय में कुलभूषण जाधव का मामला उठाना भारत की सबसे बड़ी गलती - काटजू

कांग्रेस की मोदी की आलोचना पर प्रतिक्रिया करते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी कोई विवरणकार नहीं हैं जो एक-एक भाग के बारे में बताएंगे. और जब ज़रुरत होगी तो पार्टी और प्रधान मंत्री मोदी बोलेगे.

अब बीजेपी नेता की इस प्रतिक्रिया से यह अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि केंद्र सकरकर को कश्मीर में हुई हिंसा में किसी भी तरह का कोई रूझान नहीं हैं.

और पढ़े -   राजनीती के मैदान में एंट्री मारने की अटकलों के बीच रजनीकांत ने कहा, सीनियर लीडर होने के बावजूद लोकतंत्र की उड़ रही धज्जिया

साथ ही उन्होंने कहा कि यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण हैं के कांग्रेस के वक़्त में विपरीत पार्टी, भाजपा ने कांग्रेस के घोटाले की बहुत आलोचना की थी पर उसके बावजूद प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह ने अपनी चुप्पी नहीं तोड़ी थी.

Web-Title: This is not the first time when modi and their leaders sustain silence over Kashmir issue

Key-Worlds: Modi, PM, Leaders, BJP, Kashmir, Violence, Silence

और पढ़े -   मालेगांव नगर निगम चुनावो में बीजेपी ने 60 फीसदी मुस्लिमो को दिया टिकेट


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE