Girls-celebrate-Holi-at-a-college-in-Ludhiana-540x343
ब्रेक के लिए मौका ढूंढ रहे बैंकर्स के लिए अच्छी खबर है, हालांकि उनके कस्टमर्स के लिए शायद यह दिक्कत का सबब बन जाए। इस वीकेंड पर होली, गुड फ्राइडे और बैंकों की प्रस्तावित हड़ताल के कारण छुट्टियों का सिलसिला लगातार चलता रहेगा। हालांकि फिस्कल इयर की शुरुआत से ठीक पहले इतनी लंबी छुट्टी से बैंकों के अकाउंटिंग कामकाज की मुश्किलें बढ़ सकती हैं और रिटेल कंज्यूमर्स और ब्रांच बैंकिंग पर निर्भर लोगों को दिक्कत हो सकती है। बहरहाल बैंक यह पक्का करेंगे कि इस दौरान एटीएम में पर्याप्त कैश हो ताकि लोगों को कम से कम परेशानी हो।

बैंकों की छुट्टियों का सिलसिला 24 मार्च यानी गुरुवार से शुरू होगा। देश के ज्यादातर हिस्सों में इसी दिन होली का त्योहार मनाया जाना है। इसके बाद शुक्रवार को गुड फ्राइडे है। इसके अगले ही दिन इस महीने का चौथा शनिवार है, जिस दिन भी बैंक बंद रहेंगे। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड जैसे राज्यों में बैंकों की छुट्टी का पीरियड ज्यादा लंबा रहेगा और यह बुधवार से ही शुरू हो जाएगा। वहीं बिहार में इस हफ्ते मात्र एक दिन दिन वर्किंग डे होगा और यहां छुट्टियां 22 मार्च यानी मंगलवार से ही शुरू हो जाएंगी।

अगर 28 मार्च यानी सोमवार को आयोजित बैंकों की प्रस्ताव हड़ताल सफल रहती है, बैंकिंग सेवाएं और लंबे वक्त के लिए ठप हो जाएंगी। आईडीबीआई बैंक के निजीकरण प्लान के खिलाफ बैंकों की एंप्लॉयीज यूनियन ने इस हड़ताल का आह्वान किया है।

सालाना अकाउंट क्लोजिंग के कारण 1 अप्रैल को बैंक बंद रहेंगे। छुट्टी के इस लंबे दौर के कारण चेक क्लियरेंस और लोन डिलिवरी जैसे ऑपरेशन अटक जाएंगे। साथ ही शुक्रवार से रविवार के दौरान आरबीआई के इलेक्ट्रॉनिक प्लेटफॉर्म के रूट के जरिए होने वाले ऑनलाइन फंड ट्रांसफर भी नहीं होंगे।

रिजर्व बैंक के हॉलिडे कैलेंडर के मुताबिक, रिटेल ऑनलाइन ट्रांसफर से जुड़ा नैशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) और हाई वैल्यू वाला रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस) भी गुड फ्राइडे के कारण 25 मार्च को बंद रहेगा। रविवार और शनिवार (चौथा) को सामान्य छुट्टी के कारण बैंकों का कामकाज नहीं होगा। ये सेवाएं 1 अप्रैल को उपलब्ध होंगी।

हालांकि छुट्टियों के दौरान एक ही बैंक के भीतर फंड ट्रांसफर को अंजाम दिया जा सकता है, क्योंकि बैंकों के सर्वर ऑन रहेंगे। एक सप्ताह के लंबे ब्रेक के बावजूद एटीएम सर्विस जारी रहेगी। स्टेट बैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘इस लंबी छुट्टी से एटीएम में कैश लोडिंग सर्विस प्रभावित नहीं होगी, क्योंकि आजकल सभी बैंक इस तरह के मामले में स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रसीजर अपनाते हैं। हालांकि चेक क्लियरिंग और दो बैंकों के बीच ऑनलाइन फंड ट्रांसफर का काम प्रभावित होगा।’

इसका मतलब यह है कि लोगों को इस बार उस तरह की भारी दिक्कत से नहीं गुजरना पड़ेगा, जैसा कि अप्रैल 1995 में पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई की मौत के वक्त हुआ था। उस वक्त भी लगातार कई छुट्टियां पड़ने के कारण बैंकिंग काम-काज बुरी तरह से प्रभावित हुआ था।

Web Title: there would be long span of holiday next week in banks

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें