जेएनयू के छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने राष्ट्रीय स्वंयसेवक संगठन (आरएसएस) की तुलना आतंकवादी संगठन आईएसआईएस के साथ करते हुए कहा कि दोनों संगठन कट्टरवादी विचारधारा रखते हैं वो राष्ट्र के लिए खतरनाक है.

सोमवार को उन्होंने कहा, लोगों को समझना होगा की क्या सही है, यह राष्ट्र के लिए एक खतरनाक है. कन्हैया कुमार का यह बयान रविवार को जेएनयू में ईरानी छात्र के साथ हुई हाथापाई के बाद आया है. दरअसल इंडिया-पाक क्रिकेट मैच के बाद एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने शराब के नशें में ईरानी छात्र के साथ मारपीट की थी.

और पढ़े -   मध्यप्रदेश के शिक्षामंत्री का बयान, मदरसों में रोज गाया जाए राष्ट्रगान और फहराया जाए तिरंगा

इस मामले में ईरानि छात्र ने 10 छात्रों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. पीड़ित छात्र का कहना है कि भारत-पाक मैच देख रहा था तो कम से कम 10 छात्रों के समूह ने उसके साथ मारपीट की है. एक छात्र ने उसे धक्का दिया और एक ने उसके नाक पर मुक्का मारा.

कन्हैया ने हाल ही में कहा था कि देश मे भय का माहौल है अगर आप पतंजलि का फेशवॉश इस्तेमाल नहीं करते हैं तो आपको देशद्रोही घोषित कर दिए जाएगा.

और पढ़े -   'अबकी बार मोदी सरकार' का नारा देने वाले ने खरीदा NDTV, 600 करोड़ रूपए में हुई डील

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE