नोटबंदी  से पहले भारतीय अर्थव्यवस्था को दुनिया की सबसे तेज अर्थव्यवस्थाओं में गिना जाता था. लेकिन नोटबंदी के बाद से भारत से दुनिया की सबसे तेज अर्थव्यवस्था होने का ताज छीन गया है.

देश के विकास की रफ्तार के मामलें में चीन ने जनवरी-मार्च 2017 के दौरान 6.9 फीसदी की ग्रोथ रेट देकर इस दौरान भारत की 6.1 फीसदी ग्रोथ को काफी पीछे छोड़ दिया है. केन्द्र सरकार का तरफ से जारी जीडीपी आंकड़ों के मुताबिक, 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी के फैसले से इस वित्त वर्ष कीआखिरी तिमाही (जनवरी-मार्च 2017) की विकास दर चौपट हो गई.

सरकार का दावा था कि इस वित्त वर्ष में भी देश की जीडीपी 7 फीसदी से ऊपर की ग्रोथ दर्ज करने में सफल होगी, उस पर पानी फिर गया है और देश एक बार फिर मध्यम से सुस्त जीडीपी ग्रोथ वाले देशों में शुमार हो गया है.

गौरतलब है कि चीन सरकार के जनवरी-मार्च 2017 के जीडीपी आंकड़े 6.9 फीसदी की ग्रोथ दिखा रहे हैं। यह भारत के लिए बड़ी चुनौती है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE