सऊदी सहित विभिन्न अरब देशों द्वारा क़तर को आतंक प्रायोजित देश करार देते हुए रिश्तें तोड़े जाने के बाद गल्फ में आए संकट को लेकर भारत ने भी अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है. भारत ने ने क्षेत्र के देशों को रचनात्मक वार्ता और परस्पर सम्मान के सुस्थापित अंतरराष्ट्रीय सिद्धांतों के जरिए कतर संकट का हल करने की बात कही.

विदेश मंत्रालय की और से कहा गया कि भारत खाड़ी सहयोग परिषद (जीसीसी) देशों का समय के साथ खरा उतरा मित्र है. 80 लाख प्रवासी भारतीय इन देशों में रह रहे हैं और काम कर रहे हैं, क्षेत्रीय शांति एवं स्थिरता में हमारा महत्वपूर्ण हित जुड़ हुआ है.

इस परिप्रेक्ष्य में सरकार स्थिति की करीबी निगरानी कर रही है और यह क्षेत्रीय देशों के साथ नियमित रूप से संपर्क में भी है. उनके अधिकारियों ने सरकार को प्रवासी भारतीय समुदाय के कल्याण और भलाई के लिए सहयोग जारी रखने का भरोसा दिलाया है.

इसमें कहा गया है, हमारा विचार है कि सभी पक्षों को एक रचनात्मक वार्ता की प्रक्रिया और परस्पर सम्मान, संप्रभुता एवं अन्य देशों के अंदरूनी मामलों में अहस्तक्षेप के सुस्थापित अंतरराष्ट्रीय सिद्धांतों पर आधारित शांतिपूर्ण बातचीत के जरिए मतभेदों का हल करना चाहिए.

भारत का मानना है कि खाड़ी देशों में शांति एवं सुरक्षा क्षेत्र के देशों की निरंतर प्रगति और समृद्धि के लिए सर्वोच्च महत्व रखता है. (भाषा)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE