modi555

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले से दिए गए प्रधानमंत्री के भाषण पर सवाल उठ रहे हैं. पीएम मोदी ने अपने भाषण में जिस 70 साल बाद बिजली पहुंचाने का दावा किया था. उसी दावे पर अब गांव के लोग सवाल उठा रहे हैं.

दरअसल पीएम ने अपने भाषण में यूपी के हाथरस जिले के गांव नगला फतेला का जिक्र करते हुए कहा था कि दिल्ली से महज तीन घंटे की दूरी के इस गांव में बिजली आने में 70 साल लग गए. इस बारें में गाँव वालों का कहना है कि गांव में केवल बिजली के तार खिंचे हैं, बिजली नहीं आई है। बिजली के पोल लगाए एक साल हो गया.

और पढ़े -   गाय पर आस्था रखने वाले लोग हिंसा नहीं करते: मोहन भागवत

ग्रामीणों का कहना है कि बिजली के लिए उन्हें आज भी वही दिक्कतें झेलनी पड़ रही है जो कि वे आजादी के 70 साल से झेल रहे है. दरअसल इस गांव के ग्रामीण अपने ट्यूबवेलों की लाइन से १५० से २०० मीटर तक की केबिलें स्वयं खीचकर जैसे तैसे बिजली का इंतजाम करते है. ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने बिजली विभाग के अधिकारियों को लिखकर दिया है फिर भी उनकी सुनवाई नही होती. इन ग्रामीणों को तो गांव में दो तीन घण्टे बिजली आने से भी परेशानी है.

और पढ़े -   पत्रकारों के सवाल पर आग बबूला हुए आसाराम ने खुद को बताया 'गधा'

नगला फतेला गांव उत्‍तर प्रदेश के महामाया नगर जिले में आता है. इस गांव की आबादी 1550 है और यहां पर 235 परिवार रहते हैं. सोमवार को ही प्रधानमंत्री दफ्तर की ओर से नगला फतेला गांव के लोगों के टीवी पर पीएम का भाषण देखने की तस्‍वीरें भी जारी की गई थी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE