prabhu

राजस्थान के जोधपुर निवासी 25 वर्षीय राइफलमैन प्रभु सिंह बुधवार को कश्मीर के माछिल सेक्टर में पाकिस्तान की और से हुए हमले में शहीद हो गए. प्रभु सिंह के साथ दो अन्य जवानों ने भी देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी.

प्रभु सिंह की शहादत की खबर मिलने के साथ ही उनके गाँव शेरगढ़ में मातम छा गया. शहीद प्रभु सिंह के पिता चंद्र सिंह प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी को उनके चुनावी वादा याद दिलाते हुए कहा कि सरकार को अब पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कदम उठाना ही चाहिए, नहीं तो देश के जवान यूं ही मरते रहेंगे.

उन्होंने कहा, पीएम मोदी के 2014 में एक सिर के बदले 10 सिर वाले चुनावी वादा किया था. उन्होंने आगे कहा, चुनावी वादे कभी पूरे नहीं होते. कुछ ना कुछ कमी रह जाती है. प्रधानमंत्री को अब कुछ करना ही चाहिए. शहीद हुए प्रभु सिंह की दो साल पहले ही शादी हुई थी. वे अपने पीछे 10 महीने की मासूम बेटी पलक को छोड़ कर गये हैं.

प्रभु सिंह का शव उनके गाँव लाया जाना बाकि हैं. ऐसे में अधिकारियों के सामने उनके घर वालो को प्रभु सिंह का चेहरा दिखाने को लेकर सवाल हैं. अधिकारियों को डर है कि चेहरा देखने से परिवार के सदस्य विचलित हो सकते हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें