modi1

भारतीय सेना द्वारा POK में आतंकी कैंपो को नष्ट करने के लिए की गई सर्जिकल स्ट्राइक्स पर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं द्वारा आ रहें बेतुके बयानों से परेशान होकर अपने मंत्रियों को मुंह बंद रखने की नसीहत दी हैं.

पीएम मोदी द्वारा इस मामलें में केवल उन मंत्रियों को बोलने की इजाजत दी गई हैं  जिन्हें सर्जिकल स्ट्राइक पर बोलने के लिए अधिकृत किया गया है. बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में प्रधानमंत्री ने स्पष्ट कर दिया है कि जिन्हें सर्जिकल स्ट्राइक पर बोलने के लिए अधिकृत किया गया है, सिर्फ वही इस पर बोलेंगे.

और पढ़े -   देश में बढ़ रहा है मुस्लिमों पर अत्याचार, अब तो कुछ करे मोदी सरकार

दरअसल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सर्जिकल स्ट्राइक्स पर पाकिस्तान के प्रोपगेंडा को बेनकाब करने के लिए प्रधानमंत्री से सर्जिकल स्ट्राइक्स के सबूत जारी करने की मांग की थी. जिसके बाद भाजपा नेताओं के उलटे-सीधे बयान आना शुरू हो गए थे.

कई भाजपा नेताओं ने सर्जिकल स्ट्राइक्स का सबूत मांगे जाने वालों को पाकिस्तान जाने को कह दिया, कुछ ने उन्हें पाकिस्तानी एजेंट बताया.

और पढ़े -   मौजूदा संप्रदायिक माहौल का हवाला देकर जमीयत उलेमा-ए-हिन्द ने रद्द किया ईद-मिलन समारोह

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE