AgustaWestland-Sonia-Gandhi

नई दिल्ली : अगस्ता वेस्टलैंड मामले में इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल ने मोदी सरकार को ही कठघरे में खड़ा कर दिया है। मिशेल ने ‘इंटरनेशनल ट्रिब्यूनल फॉर लॉ ऑफ द सी’ को लिखे एक पत्र में कहा है कि अगुस्ता मामले में मोदी सरकार जांच एजेंसियों के जरिये उस पर दबाव बना रही हैं। जाँच एजेंसियों द्वारा ये दबाव गांधी परिवार के खिलाफ बयान लेने के लिए बनाया जा रहा हैं।

मिशेल ने यह पत्र 23 दिसंबर 2015 को इंटरनेशनल ट्रिब्यूनल के रजिस्ट्रार को लिखा था। मिशेल ने पत्र में लिखा कि इस मामले में उस पर दबाव बनाकर उससे सौदेबाजी की कोशिश भी की जा रही है।  उससे कई लोगों ने संपर्क किया और ऑफर दिया कि अगर वह इस मामले में गांधी परिवार के किसी सदस्य का नाम ले लेता है तो उसके खिलाफ तमाम आरोप वापस ले लिए जाएंगे।
उन्होंने आगे लिखा कि जब उसने इस दबाव के आगे झुकने से इंकार कर दिया तो बिना किसी सम्मन के उसके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया गया। मिशेल ने यह भी दावा किया है कि उसने कभी भी गांधी परिवार से मुलाकात नहीं की।
और पढ़े -   मुस्लिम पर्सनल बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट में कहा, महिलाओं को भी तीन तलाक देने का हक़

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE