केंद्र सरकार ने अब अलगाववादियों के खिलाफ ‘आतंकवाद विरोधी क़ानून’ यानि UAPA के तहत मुक़दमा दर्ज़ कर कार्रवाई करने का प्लान बनाया है.  इस प्लान की मॉनिटरिंग खुद एनएसए अजीत डोवाल करेंगे.

इसके लिए केंद्र सरकार मुख्यमंत्री महबूबा को इस बात के लिए राज़ी करने में जुटी है. इस कदम के पीछे दलील दी जा रही है कि अलगावादियों के प्रदर्शन से जहां निर्दोष लोग मारे जा रहे हैं वहीं इससे आतंकियों को भी मदद मिल रही है.

और पढ़े -   सुप्रीम कोर्ट के फैसले से कानून और शरीयत में टकराव, अगर मुस्लिम शरीअत को चुने तो ?

इसके अलावा सोशल मीडिया और इंटरनेट पर भी निगरानी रखने का प्लान बनाया गया हैं. सोशल मीडिया और इंटरनेट पर किसी भी कांटेंट को तत्काल हटाने के लिए बाकायदा कंट्रोल रूम 24/7 काम करेगा.

इसका जिम्मा तकनीकी ख़ुफ़िया एजेंसी एनटीआरओ और संचार मंत्रालय की टीम के पास होगा. ये टीम सोशल मीडिया साइट्स जैसे की फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पर नज़र रखेगी. साथ ही अमरनाथ यात्रा के सुरक्षा में लगे 65 हज़ार सुरक्षा बलों की तैनाती होगी.

और पढ़े -   सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान बजने के दौरान नही खड़े हुए तीन कश्मीरी छात्र , मामला दर्ज

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE