jignesh mewani

भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) द्वारा रामनाथ कोविंद को एक दलित नेता के तौर पर राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर उतारा गया है. ऐसे में दलित संगठनों ने उनके खिलाफ मौर्चा खोल दिया हैं.

दलित एक्टीविस्ट जिग्नेश मेवानी ने बीजेपी के निशाने पर लेते हुए शायरी भरे अंदाज में कहा कि एजेंडा हिन्दू राष्ट्र और राष्ट्रपति बने दलित? हम को बहलाने के लिए ग़ालिब ये खयाल घटिया है.

और पढ़े -   उर्दू पूरे हिंदुस्तान की जुबान, राजनीति ने सिर्फ मुसलमानों की बना दिया: हामिद अंसारी

उन्होंने आगे कहा, बीजेपी वाले समझते है कि दलित समाज में पैदा हुए रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति के पद के लिए नॉमिनेट करके उन्होंने मास्टर स्ट्रोक मारा है. लेकिन दलितो को वे लुभा नही पाएंगे. अब दलित ऐशे पैंतरों के झांसे में आने वाले नही.

एजंडा हिन्दू राष्ट्र और राष्ट्रपति बने दलित?हम को बहलाने के लिए ग़ालिब ये खयाल घटिया है।बीजेपी वाले समझते है कि दलित स…

Posted by Jignesh Mevani on Monday, 19 June 2017

उन्होंने कहा, जब पूरा देश उना और सहरानपुर बन चुका हो, जब मरी हुई गाय के मामले में दलितो की खाल उधेड़ी जा रही हो, सहरानपुर में दलितो के आशियाने जलाए जा रहे हो, साथी चंद्र शेखर रावण को खत्म करने की चाल खेली जा रही हो, भीम आर्मी की केडर को थर्ड डिग्री टॉर्चर किया जा रहा हो, हरियाणा में दलित युवको के सामने राजद्रोह के फर्जी मुकद्दमे दर्ज किए जा रहे हो, रोहित वेमुला की संस्थानिक हत्या की जा रही हो, जब संविधान को तोड़ मरोड़कर मनुस्मृति लागू की जा रही हो तब दलित राष्ट्रपति मिलने से दलितो को कोई फर्क नही पड़ेंगा. चुनावी राजनीति में 2019 तक दलितो को लुभाने के चुनावी पैंतरे के अलावा यह और कुछ नही


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE