मुंबई: नए साल के मौके पर कई घरों में खुशी आने वाली, जो पिछले कई सालों से रुकी हुई थी। मुंबई के सिद्धिविनायक मंदिर ट्रस्ट ने राज्य में खुदकुशी करने वाले किसानों के बच्चों की पढाई खर्च उठाने का फैसला लिया है।

कानून और न्यायिक विभाग ने एक सरकारी प्रस्ताव जारी किया, जिसके तहत सिद्धिविनायक मंदिर ट्रस्ट सूखे और बाढ से परेशान खुदकुशी करने वाले किसानों के बच्चों की शिक्षा में आर्थिक मदद करेगा।सिद्धिविनायक मंदिर ट्रस्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजीव पाटिल ने कहा कि हमें एक जीआर मिला है जिसकी कॉपी हमने सभी जनला कलेक्टर्स को दे दी है, जिसमें किसानों और उनके बच्चों की जानकारी देने को कहा गया है।

और पढ़े -   चीनी के सरकारी मीडिया ने सुषमा स्वराज को बताया 'झूठा' कहा, भारत को दिखने लगी अपनी हैसियत

पाटिल ने कहा कि इन बच्चों की ग्रेजुएशन तक खर्चा ट्रस्ट वहन करेगा। बता दें 1997 से लेकर अबतक महाराष्ट्र में 70,000 किसानों ने फसल बर्बाद होने के कारण खुदकुशी कर ली है। साभार: news24online


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE