सोशल मीडिया पर विडियो के जरिए भारतीय सेना में भ्रष्टाचार के खुलासा करने वाले जवान तेज बहादुर ने बीएसएफ की और से लगाए गए अनुशासनहीनता के आरोप पर सवाल उठाते हुए कहा कि अगर मैं गलत था तो गोल्ड मैडल और 16 अवार्ड क्यों दिए गए?

दरअसल बीएसएफ के एक अधिकारी ने बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव पर अनुशासनहीनता के आरोप लगाते हुए कहा था कि यादव पर कई मामलों में अनुशासनात्‍मक कार्रवाई हो चुकी है. इसके अलावा वह कई मामलों में सजा तक काट चुका है.

तेज बहादुर यादव ने एक मीडिया चैनल को दिए जवाब में कहा , “जहां मैं रहता हूं मैने वहां के कमांडेंट को इस बारे में सूचित किया था, लेकिन जब कोई एक्शन नहीं हुआ तब जाकर मैने वीडियो के जरिए सच्चाई दिखाने का फैसला लिया.” अपने करियर पर उठाए गए सवालों के जवाब में जवान ने कहा कि आरोप लगाने वालों से यह भी पूछा जाए कि अगर मैं इतना ही गलत था तो क्यों उन्हें अवार्ड दिए गए.

तेज बहादुर ने बताया कि उन्हें 16 बार सम्मानित किया जा चुका है और एक बार वह गोल्ड मेडल भी जीत चुके हैं. हालांकि उन्होंने माना कि करियर में उन्होंने कुछ गलतिया कीं, लेकिन फिर वह उनमें सुधार भी कर चुके हैं. गौरतलब रहें कि तेज बहादुर ने वीडियो जारी कर बीएसएफ के उच्च अधिकारीयों पर जवानों की खाद्य साम्रगी बेचने का आरोप लगाया था.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें