tarek

पाकिस्तान से आकर भारत में अपना निर्वासित जीवन व्यतीत कर रहे पाकिस्तानी लेखक तारिक फतह को पंजाब यूनिवर्सिटी जाना महंगा पड़ गया हैं. तारिक फतह पर आरोप हैं कि उन्होंने वहाँ सिख स्टूडेंट्स को खालिस्तानी और कश्मीरी मुस्लिम स्टूडेंट्स को ‘आतंकवादी’ कहकर संबोधित किया जिसके बाद छात्रों ने उनकी जमकर पिटाई कर दी.

तारिक पिछले हफ्ते ही चंडीगढ़ लिटरेरी सोसाइटी की ओर से आयोजित लिटराटी-2016 में शिरकत करने आए थे. वे रविवार को को पीयू में होने वाले एक टॉक शो में हिस्सा लेने वाले थे. लेकिन अब उनका कार्यक्रम रद्द किया जा चूका हैं. ये फैसला छात्रों द्वारा तारिक फतह की शिकायत पंजाब यूनिवर्सिटी प्रशासन को किये जाने के बाद किया गया हैं.

दरअसल ये कार्यक्रम भारतीय जनता पार्टी की स्टूडेंट विंग ABVP की और से आयोजित किया गया था. ये कार्यक्रम बलूचिस्तान पर आधारित था. जिसमे तारिक फतह को मुख्य वक्ता के तौर पर आमंत्रित किया गया था. साथ ही इस कार्यक्रम में जिवेशु अहलुवालिया, अमित भट्टाचार्य, अमित हंस और अजय सोंधी को भी शिरकत करनी थी.

रिसर्च स्कालर गगनदीप सिंह ढिल्लों ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि हम फिजिक्स कैंटीन में बैठे थे जब तारेक वहां आया और छात्रों के साथ एक अनौपचारिक बातचीत शुरू कर दी. उन्होंने बताया कि हम कल के नगरोटा आतंकी हमले चर्चा कर रहे थे. तभी डिपार्टमेंट के लाइब्रेरियन वहां आये हम सब उनके सम्मान में खड़े हो गये. इस पर तारेक ने कहा कि ‘भारतीयों को अपने वरिष्ठ नागरिकों के इस तरह इज्ज़त देने की ज़रुरत नहीं.

 कथित तौर पर तारेक ने कहा कि आप सब इस व्यक्ति के लिए क्यों खड़े हो रहे हैं मैं तो अपने पिता के लिए भी खड़ा नहीं हो सकता. कारगिल से पीएचडी स्कॉलर, मुस्तुफ़ा ने जब इस पर  आपत्ति की, तारेक ने उसे कहा ..अरे तुम गोरी चमड़ी तुम कहाँ से हो? … तुम एक पाकिस्तानी आतंकवादी ही ,तुम राष्ट्र विरोधी हो. तारेक ने कथित तौर पर ढिल्लों को कहा तुम खालिस्तानी हो. इसके बाद छात्रों ने तारेक की इस बात पर गुस्सा होकर उसको पीटना शुरू कर दिया.

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें