बिजनौर: केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के निर्देश पर सोमवार को डीजी बीएसएफ केके शर्मा फोर्टिस अस्पताल में शहीद डीएसपी तंजील अहमद की पत्नी फरजाना को देखने पहुंचे। बतादें कि तंजील 6 साल से डेपुटेशन पर नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) में तैनात थे। बीएसएफ में उनकी पोस्टिंग असिस्टेंट कमांडेंट के पद पर थी। डीजी बीएसएफ ने तंजील को बहादुर अफसर बताया। कहा कि उनकी पत्नी फरजाना को सौ फीसदी पेंशन देने पर विचार किया जा रहा है। डीजी केके शर्मा ने बताया कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह पूरी घटना को लेकर चिंतित हैं। वह पल-पल की रिपोर्ट एनआईए और बीएसएफ के अधिकारियों से ले रहे हैं।

और पढ़े -   मोदी सरकार रोहिंग्या मुसलमानों के नरसंहार का मुद्दा सयुंक्त राष्ट्र में उठाए: अजमेर दरगाह दीवान

dg-bsf_landscape_1459815010

इधर मुख्यमंत्री के निर्देश पर एनआईए के डिप्टी एसपी तंजील अहमद हत्याकांड की जांच के लिए यूपी के एडीजी कानून व्यवस्था दलजीत चौधरी सीधे बिजनौर के लिए रवाना हो गए हैं। जबकि आईजी जोन बरेली वीएस मीना अभी मुरादाबाद पहुंचे हैं। यहां कुछ देर अफसरों से वार्ता के बाद वह बिजनौर के लिए रवाना होंगे। वह घटना स्थल और तंजील अहमद के गांव सहसपुर भी जाएंगे।इस बीच एक वीडियो सामने आया है जिसमें तंजील दिखाई दे रहे हैं।उधर, घटनास्थल पर तीन दिन तक जांच पड़ताल करने के बाद फारेसिंक टीम वापस लौट आई है। मौके पर मिले कारतूस और खोखों के मेटल अलग-अलग होने से जांच और उलझ गई है। अब फारेसिंक टीम तंजील अहमद के शरीर से निकली गोलियां और मौके से बरामद खोखों का मिलान करने के लिए जद्दोजहद कर रही है। (hindi.siasat.com)

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमो पर बोले मौलाना, हम 72 भी लाखो पर भारी, कोई माँ का जना नही जो मुसलमानों को बंगाल से निकाल दे

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE