भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामलें में जल्द सुनवाई का भरोसा दिया है. दरअसल स्वामी ने सुप्रीम कोर्ट में मामला सात वर्षों से लंबित होने का हवाला देकर शीघ्र सुनवाई की मांग की थी.

चीफ जस्टिस एस खेहर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड की बेंच ने कहा, ”हम इस बारे में निर्णय करेंगे.” हालांकि सर्वोच्च न्यायालय ने केस की सुनवाई के लिए कोई तारीख निर्धारित नहीं की है. कोर्ट के इस फैसले के बाद स्वामी ने ट्वीट कर खुशी जताई.

और पढ़े -   नहीं रुक रही मोदी सरकार की हादसों वाली रेल, 2 ट्रेनों के पहिए पटरियों से उतरे

कोर्ट ने इससे पहले 31 मार्च को इन याचिकाओं पर जल्द सुनवाई करने की सुब्रमण्यम स्वामी की मांग खारिज कर दी थी. इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि हमें पता नहीं था कि आप मुख्य पक्षकार नहीं है. हमें मीडिया से पता चला कि आप पक्षकार नहीं है.

कोर्ट ने कहा था, ‘हमारे पास आपको (स्वामी को) सुनने के लिए वक्त नहीं है. हमारे पास इस मामले में आपके पक्षकार होने की भी जानकारी नहीं है.’ इस पर सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा था कि उन्होंने यह याचिका इलाहाबाद हाईकोर्ट के 2010 के फैसले के आधार पर लगाई है. उन्होंने यह भी कहा था कि अयोध्या विवाद से जुड़े मामलों के लंबित रहने से उनके प्रार्थना करने के अधिकार पर असर पड़ रहा है.

और पढ़े -   गाय पर आस्था रखने वाले लोग हिंसा नहीं करते: मोहन भागवत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE