सुप्रीम कोर्ट की अवमानना के दोषी  कोलकाता हाईकोर्ट के अवकाशप्राप्त जज जस्टिस कर्णन की जमानत अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई से इनकार कर दिया है. कोर्ट ने कहा कि फिलहाल कोई अंतरिम आदेश जारी करने की जरूरत नहीं है.

चीफ जस्टिस जेएस खेहर की बेंच के समक्ष जब जस्टिस कर्णन के वकील नेदुम्पारा ने मेंशन किया, तो चीफ जस्टिस ने कहा कि वे कोई मौखिक सुनवाई नहीं करेंगे. कर्णन की ओर से अर्जी में कहा गया कि जमानत अर्जी पर तुरंत सुनवाई की जाए और उन्हें दोषी करार दिए जाने के फैसले को खारिज किया जाए.

जस्टिस कर्णन को सुप्रीम कोर्ट ने कोर्ट की अवमानना का दोषी मानते हुए छह माह कैद की सजा सुनाई थी. 20 जून को सीआईडी ने पश्चिम बंगाल के कोयंबटूर से उन्हें गिरफ्तार किया था. वे नौ मई को सजा सुनाने के बाद से फरार चल रहे थे.

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि जस्टिस कर्णन को सुप्रीम कोर्ट की सात जजों की बेंच ने सजा दी थी, इसलिए उसमें कोई भी फेरबदल दूसरी बेंच नहीं कर सकती है. इसलिए ग्रीष्मावकाश के बाद सुनवाई होगी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE