sangit som kairan riot

मुज़फ्फरनगर – पाकिस्तान की फर्जी विडियो को मुज़फ्फरनगर की बोलकर दंगे कराने के आरोपी बीजेपी सांसद संगीत सोम के समर्थकों ने शुक्रवार (17 जून) को सरधाना में उनके घर के बाहर खूब भड़काऊ नारे लगाए. समर्थक हथियारों से लेस होकर घर के बाहर एकत्र हुए तथा काफी आपत्तिजनक नारे लगा रहे थे. वे सोम के घर के बाहर कैराना जाने के लिए जमा हुए थे. संगीत सोम ने सरधााना से कैराना तक’निर्भय यात्रा’ निकालने की घोषणा की थी

हालाँकि प्रशासन ने इस यात्रा पर रोक लगा दी है. 16 जून को खुद संगीत सोम ने भी कैराना जाने का कार्यक्रम बनाया था, पर प्रशासन ने उन्‍हें रोक दिया था। कैराना से 42 किलोमीटर दूर संगीत सोम के घर पर जुटे समर्थक वंदे मातरम और अन्‍य नारे लगा रहे थे। संगीत सोम की इस यात्रा पर एसडीएम ने रोक लगा दी थी। बावजूद इसके संगीत सोम ने कहा कि वह पुलिस और प्रशासन का सम्मान करते हुए सिर्फ वहीं तक जाएंगे जहां पुलिस ने बैरीकेड लगाए गए हैं।

वहीँ दूसरी तरफ कैराना मुद्दे को हवा देने वाले हुकुम सिंह अब इस मामले को ठंडा करने में लगे है उनका कहना नही की संगीत सोम के इस कदम से कैराना साम्प्रदायिकता में जलने लगेगा तथा भाजपा के यूपी अध्‍यक्ष केशव प्रसाद मौर्य का कहना है कि पार्टी की ओर से इस यात्रा काा आयोजन नहीं किया गया है और न ही संगीत सोम से ऐसा करने के लिए कहा गया है। शामली से बीजेपी सांसद हुकुम सिंह ने भी कहा था कि वह नहीं चाहते कि संगीत सोम कैराना आएं।

इस बात पर सत्ताधारी पार्टी समाजवादी ने कहा की भाजपा के पास मुद्दो की कमी है जिस कारण साम्प्रदायिकता भड़काकर चुनावी फायदा लेना चाहती है हालांकि, समाजवादी पार्टी के नेता अतुल प्रधान ने संगीत सोम को ‘टक्कर’ देने के लिए ‘सद्भावना यात्रा’ निकालने की बात की है। उन्होंने आरोप गाया कि बीजेपी अखिलेश यादव के विकास एजेंडा को पटरी से उतारना चाहती है। उन्होंने आरोप लगाया कि मुजफ्फरनगर दंगे के दौरान संगीत सोम की भूमिका रही है। प्रशासन ने उन्‍हें भी यात्रा निकालने की इजाजत नहीं दी है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें