bhagwat_30_03_2016

ऑल इंडिया सुन्नी उलेमा काउंसिल के एक प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत से मुलाक़ात के लिए पहुंचे लेकिन आरएसएस पदाधिकारियों ने भागवत से उनकी मुलाक़ात नहीं होने दी. हालांकि पदाधिकारियों ने उनके छह सवालों के एक पत्र को स्वीकार कर लिया.

सुन्नी उलेमा काउंसिल ने मोहन भागवत से छह सवाल पूछे हैं जो इस प्रकार हैं.

और पढ़े -   मुजफ्फरनगर में हिन्दू लड़की से शादी करने वाले मुस्लिम युवक को उतारा मौत के घाट

1. क्या आरएसएस भारत को हिंदू राष्ट्र मानता है?

2. अगर, हां तो क्या वह उसे हिन्दू धर्म ग्रंथों के मुताबिक चलाएगा?

3. धर्म परिवर्तन पर संघ की क्या नीति है?

4. मुसलमानों से संघ किस प्रकार का राष्ट्र प्रेम चाहता है?

5. संघ इस्लाम के बारे में क्या जनता है?

6. इस्लाम से संघ क्या चाहता है?

इससे पूर्व भी हाजी मोहम्मद सलिस ने भी करीब छह महीने पहले आरएसएस की अल्पसंख्यक विंग के मार्गदर्शक इन्द्रेश कुमार से छह सवाल पूछे थे, जिसका जवाब उन्हें अब तक नहीं मिला. इसीलिए उन्होंने एक बार फिर वही छह प्रश्नों के साथ अपने लोगों को आरएसएस की प्रान्त बैठक में भेजा. सलिस को उम्मीद है कि उनके सवालों के जवाब उन्हें जल्द ही मिलेंगे.

और पढ़े -   हिन्दू देवी देवताओ की जगह पैगम्बर मोहम्मद और जीसस का नाम लिख वायरल किया जा रहा नरेश अग्रवाल का बयान

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE