नई दिल्ली | कन्नड़ पत्रकार गौरी लंकेश की ह्त्या के बाद पत्रकार समूह भी दो गुटों में बंटता दिख रहा है. इस मामले पर वो पत्रकार ज्यादा मुखर दिखाई दे रहे है जो निष्पक्ष पत्रकारिता के पक्षधर रहे है. इनमे एनडीटीवी के मशहूर एंकर रविश कुमार जैसे पत्रकार शामिल है. इन्ही कुछ पत्रकारों ने मिलकर दिल्ली के प्रेस क्लब में गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में प्रदर्शन किया. इस दौरान रविश कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी की भी आलोचना की.

रविश कुमार ने कहा की मुझे इस बात का दुःख है की हमारे प्रधानमंत्री गाली देने वालो और किसी की मौत पर जश्न मनाने वालो को ट्वीटर पर फोलो करते है. रविश की यह विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी लेकिन कुछ लोगो ने इस पर अपने हिसाब से टाइटल लगाकर सोशल मीडिया पर बेचना शुरू कर दिया. टाइटल के अनुसार रविश ने मोदी के बारे में अपशब्दों का इस्तेमाल किया. इसी विडियो को कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर शेयर कर दिया.

बाद में रविश कुमार के आपत्ति जताने पर उन्होंने माफ़ी मांगते हुए ट्वीट किया की रविश ने प्रधानमंत्री के प्रति कोई भी अपशब्द इस्तेमाल नही किया. यूट्यूब पर रविश का जो भाषण था वो मैंने ट्वीट किया था. रविश जी क्षमा करो. दिग्विजय के रविश से माफ़ी मांगने के बाद , जी न्यूज़ के एंकर सुधीर चौधरी ने प्रतिक्रिया में एक ट्वीट किया. सुधीर ने रविश को सलाह देते हुए उन्हें राजनीती ज्वाइन कर खुलकर खेलने की सलाह दी.

सुधीर ने ट्वीट किया,’ He has himself exposed the nexus. नेता-पत्रकार भाई भाई।पत्रकारिता छोड़कर नेतागीरी में आ जाओ और खुल कर खेलो।छुप-छुप कर क्यों?’ सुधीर का यह ट्वीट कुछ लोगो को पसंद नही आया. उन्होंने सुधीर को आड़े हाथो लेते हुए लिखा की जरुर उसी तरह खुलकर जिस तरह तुम खुलकर फिरौती मांग रहे हो. इस दौरान सुधीर की फिरौती मांगने वाली विडियो भी कई यूजर ने ट्वीट की.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE