दो साल बाद जेल से बाहर आएंगे सुब्रत रॉय, 4 हफ्ते की मिली पैरोल

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को सहारा इंडिया प्रमुख सुब्रत रॉय को चार हफ्ते की पैरोल दे दी. सहारा प्रमुख करीब दो साल से जेल में बंद थे.

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि इस दौरान सादे कपड़े में पुलिस वाले उनके साथ रहेंगे. हालाँकि पुलिसकर्मीयों की संख्या का निर्धारण अदालत ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर पर छोड़ा हैं. कोर्ट के आदेशनुसार सुब्रत रॉय देश छोड़कर नहीं जा सकते.

कोर्ट ने कहा कि वेे लखनऊ, हरिद्वार और गंगासागर अंतिम संस्कार और क्रिया के लिए जा सकते हैं. कोर्ट की स्पेशल बेंच ने सुनवाई करते हुए सुब्रत रॉय के साथ उनके बहनोई अशोक रॉय चौधरी को भी कस्टडी पैरोल दी है.

गोरतलब रहे कि सुब्रत रॉय सहारा की मां छवि राय (95) का गुरुवार को निधन हो गया. वे लंबे समय से बीमार थीं. उनके निधन के बाद सुब्रत रॉय ने सुप्रीम कोर्ट में पैरोल देने की अर्जी दाखिल की थी, जिसे स्वीकार करते हुए उन्हें चार हफ्ते की जेल से कस्टडी पैरोल दे दी गई. निवेशकों के पैसे न लौटाने के कारण सुब्रत राय सहारा पिछले दो सालों से तिहाड़ जेल में बंद हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें