चेन्नई | मवेशियों की खरीद फरोख्त पर केंद्र सरकार के एक नोटिफिकेशन ने पुरे देश में हंगामा मचा दिया है. खासकर दक्षिणी राज्यों में इस नोटिफिकेशन को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है. कई राजनितिक पार्टिया और मुख्यमंत्रियों ने मोदी सरकार के फैसले की आलोचना करते हुए इसे असंवैधानिक करार दिया. इसके अलावा कई जगह पर बीफ पार्टिया मनाकर भी इस फैसले के खिलाफ आवाज बुलंद की जा रही है.

लेकिन मद्रास आईआईट में इस तरह की पार्टी आयोजित करना कुछ छात्रों के लिए मुसीबत का सबब बन गया. कुछ हिन्दुत्वादी संगठनो को इस तरह बीफ पार्टी का आयोजन करना पसंद नही आया और उन्होंने पार्टी को आयोजित करने वाले एक छात्र की बेहरहमी से पिटाई कर दी. छात्र को मारपीट की वजह से कई गंभीर चोटे आई है. हालाँकि अभी तक इस मामले में किसी के खिलाफ कोई भी शिकायत दर्ज नही कराई गयी है.

और पढ़े -   नई हज नीति की रिपोर्ट तैयार, इस महीने में कर दी जाएगी घोषणा: नकवी

दरअसल रविवार को आईआईट मद्रास कैंपस में करीब 80 छात्रों के समूह ने बीफ पार्टी का आयोजन किया. छात्रों ने मोदी सरकार के उस फैसले को खाने की आजादी के खिलाफ माना जिसमे मारने के मकसद से मवेशियों की खरीद फरोख्त पर रोक लगा दी गयी थी. पार्टी आयोजित करने वाले छात्रों में पीएचडी स्कूलर सूरज आर भी शामिल थे. जैसे ही हिंदूवादी संगठन को इस बात की जानकारी मिली उन्होंने सूरज आर पर हमला कर दिया.

और पढ़े -   सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार से पुछा: आखिर क्यों नहीं खा सकता आम आदमी गोश्त

इस हमले में सूरज आर की आँख पर गंभीर चोट आई है. उनको नजदीक के ही हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. उधर केंद्र सरकार ने भी आईआईटी कैंपस में बीफ पार्टी के आयोजन पर नाराजगी व्यक्त की है. केन्द्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने कहा की ऐसे आयोजन से सोहार्द बिगाड़ने और लोगो को भड़काने की कोशिश की जा रही है. राज्य सरकार को चाहिए की वो ऐसे आयोजन पर रोक लगाए और बीफ पार्टी करने वालो छात्रों पर कार्यवाही करे.

और पढ़े -   मोदी के भाषण पर उमर अब्दुल्ल्ला का तंज कहा, उम्मीद है उनकी दलील सुरक्षा बलों के लिए भी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE