mj akb

विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर अगले महीने दो दिवसीय यात्रा पर फलस्तीन जाएंगे. इस यात्रा का मकसद दोनों देशों के रिश्तों को मजबूत और गहरा बनाने की कोशिश होगी ।

इस दौरान अकबर आठ तथा नौ नवंबर को पहली ज्वाइंट कमीशन मीटिंग की सह-अध्यक्षता करेंगे जिसमें विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग से लेकर खास मुद्दों पर चर्चा होगी । फलस्तीन की तरफ से विदेश राज्य मंत्री रियाद अल मलिकी सह-अध्यक्षता करेंगे ।

और पढ़े -   अब एनसीईआरटी की किताबों में गुजरात दंगा नहीं रहा मुस्लिम विरोधी

द्विपक्षीय संबंधों को आगे और गति देने के लिए जनवरी में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के फलस्तीन दौरे के दौरान जेसीएम स्थापित करने पर रजामंदी बनी थी ।

विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘‘प्रस्तावित जेसीएम में अर्थव्यवस्था, उर्जा, पर्यटन, कृषि, जल एवं पर्यावरण, शिक्षा, स्वास्थ्य, आईटी, खेल, संस्कृति, मीडिया आदि सहित विभिन्न मुद्दे होंगे। ’’ भारत फलस्तीन मुद्दे का लंबे समय से समर्थक रहा है ।

और पढ़े -   बाबरी मस्जिद शहादत मामले की आज से रोजाना सीबीआई अदालत करेगी सुनवाई

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE