amit

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी राहत देते हुए सोहराबुद्दीन एनकाउंटर में शाह की भूमिका की दोबारा जांच की मांग करने वाली सामाजिक कार्यकर्ता हर्ष मंदर द्वारा दाखिल की गई पुनर्विचार याचिका को ठुकरा दिया हैं. इससे पहले भी सुप्रीम कोर्ट मंदर की याचिका को ख़ारिज कर चुका है.

1 अगस्त को मंदर की याचिका को ख़ारिज करते हुए कोर्ट ने कहा था कि मंदर का इस मामले से कोई संबंध नहीं है. किसी आपराधिक मामले में कोर्ट के आदेश को वही व्यक्ति चुनौती दे सकता है जो उससे जुड़ा हो. याचिका में कहा गया था कि मुंबई की सीबीआई कोर्ट के अमित शाह को इस केस से आरोपमुक्त करने के फैसले को रद्द किया जाए.

गौरतलब रहें कि 2005 में सोहराबुद्दीन को गुजरात पुलिस ने एक फर्जी मुठभेड़ में मार गिराया था. घटना के वक़्त गुजरात के गृह राज्य मंत्री रहे अमित शाह पर भी हत्या की साज़िश रचने और सबूत मिटाने के आरोप लगे थे.

हालांकि 2014 में मुंबई की विशेष सीबीआई अदालत ने अमित शाह को इस मामले में आरोपमुक्त कर दिया. कोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि शाह के खिलाफ कोई सबूत नहीं है और उन्हें राजनीतिक कारणों से फंसाया गया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE