बंगलौर | वरिष्ठ पत्रकार गौरी शंकर की मंगलवार रात को गोली मारकर हत्या कर दी गयी. बंगलौर में राजेश्वरी इलाके में उनके आवास पर यह घटना घटित हुई. गौरी लंकेश हमेशा से ही दक्षिणपंथी संगठनो के निशाने पर रही है. वह कन्नड़ टैब्लॉइड ‘लंकेश पत्रिका’ की संपादक थी. इस दौरान उन्होंने दक्षिणपंथी विचारधारा पर कई बार निशाना साधा. यही नहीं 2016 में बीजेपी नेताओ खिलाफ एक रिपोर्ट प्रकशित करने की वजह से उन्हें छह महीने जेल में भी रहना पड़ा.

उस समय बीजेपी नेताओ ने उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा कर दिया था जिसकी वजह से उन्हें जेल जाना पड़ा. बरहाल एक वैचारिक और क्रांतिकारी सोच जो कलम से कभी चुप नहीं हुई , अब गोलियों से शांत हो गयी. फ़िलहाल पुलिस अपराधियों की तलाश कर रही है. उधर गौरी लंकेश की हत्या के बाद लगभग सभी राजनीतिक दलों के नेताओ ने इसकी निंदा की है.  इसमें बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री भी शामिल है.

केंद्रीय मंत्री राजयवर्धन सिंह राठौर ने ट्वीट कर लिखा,’बेंगलुरू से गौरी लोकेश की जघन्य हत्या की खबर है. मैं पत्रकारों के खिलाफ हिंसा की निंदा करता हूं,’ उधर राहुल गाँधी ने भी ट्वीट कर घटना की निंदा की है. उन्होंने ट्वीट कर कहा की सच को कभी दबाया नहीं जा सकता। गौरी लंकेश हमारे दिलों में बसती हैं। मेरी संवेदनांए और प्यार उनके परिवार के साथ। दोषियों को सजा मिलनी चाहिए।’ इस घटना पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी ट्वीट किया.

लेकिन कुछ ट्वीटर यूजर को उनका ट्वीट करना पसंद नहीं आया. स्मृति ने ट्वीट कर लिखा की वरिष्‍ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्‍या की निंदा करती हूं। उम्‍मीद है कि त्‍वरित जांच कर न्‍याय दिया जाएगा। परिवार के प्रति संवेदनाएं। इस पर कुछ यूजर भड़क गए. एक ने लिखा की जिन लोगो को मोदी फॉलो  करते है वो इस घटना पर जश्न मना रहे है. एक अन्य यूजर लिखता है की जांच एजेंसियो को आप और एनडीटीवी की जांच करने से फुर्सत मिले तो इस मामले की जांच करेंगे न.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE