चंडीगढ़। मुरथल के कथित गैंगरेप में पहला केस दर्ज किया गया है। पीडि़त के सात रिश्‍तेदारों ने पुलिस थाने में केस दर्ज कराया है।

इसके अलावा मुरथल में जाट आंदोलन के दौरान महिलाओं के साथ गैंगरेप के प्रत्‍यक्षदर्शी ट्रक ड्राइवरों ने बयान दिया है। सरकार ने इन प्रत्‍यक्षदर्शी ड्रायवरों के बयान रिकॉर्ड करने के लिए टीम भेजी है। इस बारे में जानकारी देते हुए सोनीपत के एसपी अभिषेक गर्ग ने कहा कि एसआईटी टीम ने चश्‍मदीदों के बयान मजिस्‍ट्रेट के सामने रिकॉर्ड करवाए हैं।

हमने इसके अलावा स्‍थानीय ढाबों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी खंगाली है लेकिन उनमें इस तरह की कोई भी घटना रिकॉर्ड नहीं हुई है।

वहीं राज्‍य के मंत्री अनिल विज ने कहा है कि सरकार पूरे मामले को लेकर बेहद गंभीर है और अगर चश्‍मदीदों के बयान दर्ज होने के बाद उसके आधार पर तुरंत एफआईआर दर्ज की जाएगी और एक्‍शन लिया जाएगा।

मालूम हो कि पिछले कुछ दिनों से जाट आंदोलन के दौरान मुरथल में महिलाओं के साथ कथित गैंगरेप का मामला गर्माया हुआ है। अब तक इस घटना को लेकर कई लोगों ने बयान दिए हैं लेकिन कोई भी पीड़‍ित सामने नहीं आया है। (naidunia)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें