जेएनयू विवाद: भक्त ब्रिगेड ने अब 'वेश्या' को सोना महापात्रा से बेहतर बताया नई दिल्ली। जेएनयू विवाद में मुंह खोलने पर अब मशहूर सिंगर सोना महापात्रा पर भी चढ़ाई कर दी गई है। धमकी भरे लहज़े में उन्हें सिर्फ गाना गाने की हिदायत दी जा रही है। उनकी फेसबुक टाइमलाइन पर कहा गया है कि प्रिय सोना, राजनीति से दूर रहो। राष्ट्रविरोधी खबरें शेयर करके अपनी इमेज मत खराब करो। सोना ने फेसबुक पर उन तीन वकीलों पर कार्रवाई की मांग की थी जिन्होंने पटियाला हाउस कोर्ट में कन्हैया की पिटाई की थी।

उन्होंने लिखा, ‘तीन बीमार और बदबूदार वकील विक्रम सिंह चौहान, यशपाल सिंह और ओम शर्मा को सलाखों के पीछे होना चाहिए। लेकिन पोस्ट लिखते ही सोना महापात्रा ने जैसे आफत बुला ली हो। उनसे पूछा जाने लगा कि जब स्टूडेंट्स ने राष्ट्र विरोधी नारे लगाए, तब आपने पोस्ट क्यों नहीं लगाई। हालांकि इसके जवाब में सोना ने लिखा कि क्या आपने मेरी सारी पोस्ट पढ़ी हैं?

रोहित कपूर ने लिखा है, ‘सोनाजी सिंगर हो सिंगिंग करो…राजनीति नहीं…देश के नाम पर बर्दाश्त नहीं होगा…भारत मां के ऊपर कोई भी…मतलब समझ रही हो ना आप…कोई भी उंगली उठाएगा तो बच नहीं पाएगा…वंदे मातरम।’

वहीं स्वरूप प्रधान ने लिखा है, ‘मुझे लगता है कि कानून हाथ में लेकर उन्होंने गलत किया है लेकिन फिर भी मैं उनका समर्थन करता हूं क्योंकि हमारे देश में कुछ लोगों का इसी तरह इलाज होना चाहिए। दरअसल ऐसे लोगों के लिए कोई नियम नहीं होना चाहिए।’

बृज भूषण ने लिखा है, ‘इस मानसिकता के साथ तुमने इस देश में रहने की हिम्मत की है जो हमारी सहनशीलता का प्रमाण है। उन गुंडों को सरेआम गोली मार देनी चाहिए थी। दोगले देशद्रोही। ये मूर्ख औरत ऐसे कैसे लिख सकती है। वेश्या भी ईमान रखती है।’

रोहित त्रिवेदी ने लिखा है, ‘ओह सचमुच? हां उनपर कार्रवाई होनी चाहिए…लेकिन तुम्हारे प्रिय दोस्त ख़ालिद के बारे में क्या ख़याल है जो कश्मीर की आज़ादी चाहता है। जो अफ़ज़ल का समर्थक है?

आकाश कालांतरी लिखते हैं, ‘तुम एक सिंगर हो तो इस तरह की पोस्ट तुम्हारी प्रोफाइल पर नहीं होनी चाहिए। अपने पेशे की हद में रहो और भारत का समर्थन करो…देशद्रोही का नहीं। अगर ऐसा पाकिस्तान में हुआ होता तो उन्हें अब तक गोली मार दी जाती।’ (liveindiahindi)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें