साल 2013 में पद्मभूषण से सम्मानित और संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार प्राप्त राशिद खान पिछले 20 सालों से आइटीसी संगीत अनुसंधान अकादमी से जुड़े थे।

शास्त्रीय गायक उस्ताद अब्दुल राशिद खान की गुरुवार को उम्र संबंधी बीमारियों के कारण एक निजी अस्पताल में मृत्यु हो गई। वह 107 साल के थे। परिजनों ने बताया कि गुरुवार की सुबह वह बीमार पड़ गए, इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। परिजनों ने बताया कि शव को दफनाने के लिए शुक्रवार को रायबरेली ले जाया जाएगा।

साल 2013 में पद्मभूषण से सम्मानित और संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार प्राप्त राशिद खान पिछले 20 सालों से आइटीसी संगीत अनुसंधान अकादमी से जुड़े थे। चलने-फिरने में तकलीफ और उम्र संबंधी बीमारियों के बावजूद वे हाल तक सार्वजनिक प्रस्तुति देते रहे।  उनके एक छात्र ने बताया कि उन्होंने बुधवार को भी अपने छात्रों की कक्षा ली थीं।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि प्रख्यात गायक और पद्भ भूषण अब्दुल राशिद खान के निधन से वह दुखी हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘देश ने संगीत की दुनिया का महान रत्न खो दिया है।’’  (jansatta)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें